इंटरनेट मीडिया में नागरिकों ने भ्रष्टाचार को कोसा, मरम्मत में हुई थी बड़ी मशक्कत

कटनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर का एक ओवर ब्रिज जिसका निर्माण कई करोड़ों की लागत से हुआ। वह धसक गया था। धसकने के बाद उसमें सुधार किया गया। लेकिन वह फिर धसकने लगा। इस ब्रिज की मरम्मत को अभी 6 महीने ही बीते हैं। लेकिन बड़ी मुश्किल से विगत रात शहर को बारिश की जरा सी फुहारें मिलीं। लेकिन इन फुहारों ने ही पुल का नक्शा बिगाड़ दिया।

जानकारी के अनुसार पूर्व में यह ओवर ब्रिज एमपीआरडीसी द्वारा बनवाया गया। वर्तमान में एनएचआइ को दे दिया गया है। लेकिन मेंटनेंस गारंटी में अभी पुरानी एजेंसी ही काम कर रही है। वहीं क्षतिग्रस्त पुल को देखने गुरुवार को विधायक संदीप जायसवाल, कलेक्टर प्रियंक मिश्रा, एसपी मयंक अवस्थी के साथ एनएचआई के अधिकारी पहुंचे। उन्होंने संबंधित एजेंसी पर कठोर कार्रवाई, जल्द से जल्द निर्माण व सुधार कार्य प्रारंभ करने तथा स्थानापन्नाा सड़क मरम्मत व आवागमन की व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

जरा सी बारिश ने बिगाड़ी व्यवस्था

देर शाम कटनी में बारिश हुई। एक घंटे की बारिश में शहर का ड्रेनेज सिस्टम भी प्रभावित हो गया। सड़कों में पानी बहने लगा। लोगों के घरों में भी पानी घुस गया। विद्युत व्यवस्था प्रभावित हो गई। वहीं शहर के बाइपास के लमतरा ब्रिज की मिट्टी धसकने लगी। बुधवार देर शाम बारिश के बाद विजयराघवगढ़ मार्ग में स्थित लमतरा पुल में आवाजाही रुक गई। कैमोर की तरफ वाले हिस्से की मिट्टी धसक जाने से यह स्थित बनी। जानकारी के बाद कुठला पुलिस मौके पर पहुंची। इससे पहले करीब 8 करोड़ की लागत से पुल का मरम्मत कार्य करवाया गया था।

2020 में ही मरम्मत

ज्ञात हो इससे पहले भी नवंबर 2020 में ही लमतरा ब्रिज की मरम्मत की गई। इससे पहले भी पिछली बारिश में पुल की मिट्टी धसकने लगी थी। नागरिकों में मामले की उच्चस्तरीय जांच करते हुए दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।

हाल ही में हुई है मरम्मत

इससे पहले नेशनल हाइवे 43 में कटनी के समीप बारिश से क्षतिग्रस्त हुए लमतरा ओवरब्रिज की मरम्मत का कार्य सड़क विकास निगम की देखरेख मे पांच नवंबर से शुरू किया गया। मरम्मत कार्य के दौरान ब्रिज से वाहनों का आवागमन पूरी तरह बाधित था। इससे भारी वाहनों के आवागमन पर सीधा असर पड़ा। कटनी जिले के पांच पड़ोसी जिलों सतना, पन्नााा, दमोह, जबलपुर और उमरिया से आने जाने वाले भारी वाहन इससे प्रभावित हो गए थे लेकिन इसके बाद भी फिर ब्रिज धसकने लगा। इससे स्थानीय नागरिकों में आक्रोश देखा जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags