कटनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सावधान! शहर में भूमाफिया सक्रिय हैं। प्रशासन सो रहा है। सस्ते प्लॉट के चक्कर में ऐसा न हो कि आप जिंदगी भर सुविधाओं को तरस जाएं। शहर में कुछ भी हो रहा है। सस्ते प्लॉट के लेने के प्रयास में आप की जमा पूंजी कहीं जमीन का शिकार करने वाले शिकारियों के चंगुल में न फंस जाए। आप ऐसे स्थान पर प्लॉट लेकर फंस जाएं जहां किसी भी प्रकार की कोई अनुमतियां नहीं है और आप आजीवन ऐसी कॉलोनी में रहने को मजबूर न हो जाएं जहां किसी प्रकार की सुविधा आपको न मिले।

शहर में इन दिनों जमकर अवैध प्लॉटिंग हो रही है। कहीं पर भी मौका मिलने पर भूमाफिया अवैध प्लॉट काट रहे हैं। शहर के विभिन्न इलाकों में कॉलोनाइजर नियमों को ताक पर रखकर फिर कॉलोनियां काट रहे हैं और नगर निगम को आंख मूंदकर सो रहा है। इसलिए आपको पाठकों को सलाह दी जाती है कि नगरीय क्षेत्र में किसी भी कॉलोनी में भूखंड क्रय करने से पूर्व आवश्यक पड़ताल कर लें। इसके बाद ही अपनी अपनी पूंजी प्लॉट को खरीदने में फंसाएं।

खेतों के बनाए जा रहे टुकड़े

मध्य प्रदेश नगर पालिका कॉलोनाईजर नियम 1998 के नियम 15 क के प्रावधान अनुसार नगरीय विकास क्षेत्र अंतर्गत ऐसी कालोनियां जो अवैध कालोनी की श्रेणी में मानी जाती है, जिनमें कॉलोनाईजर द्वारा बिना नगर तथा ग्राम निवेश विभाग की अनुमति, भूमि के व्यपवर्तन, नगर पालिक निगम कटनी से कालोनाइजर लायसेंस व विकास अनुमति प्राप्त किए मौके पर एक बड़े भू-भाग को अथवा खेत को टुकड़ों-टुकड़ों में विभाजन कर विक्रय कर दिया जाता है।

किसी भी प्लॉट को लेने के पहले यह देखें

जानकारी के अनुसार नगरीय क्षेत्र में किसी भी कॉलोनी में भूखंड क्रय करने से पूर्व आम नागरिकों को यह देखना आवश्यक है कि उसके द्वारा जो भूखंड क्रय किया जा रहा है, उस कॉलोनी में निम्न अनुमतियां प्राप्त हैः-

- मध्य प्रदेश नगर पालिका (कॉलोनाईजर का रजिस्ट्रीकरण निर्बंधन तथा शर्ते) नियम 1998 के नियम 3 अनुसार कॉलोनाईजर रजिस्ट्रीकरण प्रमाण पत्र (लायसेंस) प्राप्त किया गया है।

- मध्य प्रदेश नगर तथा ग्राम निवेश अधिनियम के प्रावधानो अंतर्गत नगर तथा ग्राम निवेश विभाग, जिला कटनी से उक्त कालोनी का ले ऑउट स्वीकृत किया गया है

- कलेक्टर कार्यालय कटनी से मध्य प्रदेश भू-राजस्व संहिता अंर्गत भूमि के आवासीय व्यपवर्तन संबंधी कार्यवाही पूर्ण है।

- मध्य प्रदेश नगर पालिका (कॉलोनाईजर का रजिस्टीकरण निर्बन्धन तथा शर्ते) नियम 1998 के नियम 12 अनुसार कॉलोनी के विकास कार्य की अनुमति प्राप्त की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local