कटनी(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कटनी पुलिस को मिली बड़ी सफलता मिली है। आवास योजना के नाम पर बायोमैट्रिक मशीन से अंगूठा लगवाकर धोखाधड़ी करने वाले शातिर बदमाश का पर्दाफाश किया है। आवास योजना के नाम पर बायोमैट्रिक मशीन से अंगूठा लगवाकर धोखाधड़ी करता था। घटना में प्रयुक्त वाहन व लगभग 7.5 लाख के मसरुका सहित पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक कटनी सुनील कुमार जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कटनी मनोज केडिया के निर्देशन तथा नगर पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी कुठला रोहित डोंगरे को यह सफलता मिली है।

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक सुनील जैन ने बताया कि 2 जनवरी को आवेदक हरीमोहन गौतम निवासी ग्राम गुलवारा के द्वारा थाने में एक लिखित आवेदन दिया गया था। इन्होंने बताया था कि 19 नवंबर 2021 को समय जब वह बायपास रोड से शहर तरफ जा रहा था। इसी समय ग्राम द्वारा में रोड पर एक सफेद कार में एक अज्ञात व्यक्ति अ ाकर आवेदक को स्वयं का परिचय आवास परियोजना अधिकारी के रूप में कराया तथा आवास आवंटन के संबंध में आवेदक से पूछताछ कर पीएम आवास योजनाओं का लाभ देने का लालच देकर उसका नाम पिता का नाम व आधार नंबर व मोबाइल नंबर पूछकर एक रजिस्टर में लिख लिया था। इसके बाद उसने थंब मशीन में अंगूठा लगवाया। अज्ञात व्यक्ति क के चले जाने के बाद कुछ देर में आवेदक के मोबाइल में मैसेज आया कि उसके खाते से 10 हजार रूपये आहरण किए गए हैं। आवेदन पत्र की जांच पर प्रथम दृष्टया अज्ञात आरोपित के द्वारा बेईमानीपूर्वक पैसे ऐठना, अपराध धारा 420, 170 भांदवि का घटित करना पाए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कटनी थाना प्रभारी कुठला व सायबर सेल टीम को अज्ञात आरोपित की तलाश पता करने के लिए लगाया गया। 15 जनवरी को दौरान भ्रमण मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि एक व्यक्ति सफेद रंग की ऑल्टो कार से गांव-गांव जाकर अपने आप को आवास परियोजना अधिकारी बताकर लोगों के अंगूठा के निशान थंब मशीन में ले रहा है तथा अपनी कार से मैहर तरफ गया है। आरोपित की तलाश मे बड़ेरा मोड़ पहुंचने पर ग्राम

बड़ेरा की तरफ रोड के किनारे एक सफेद रंग की आल्टो कार खड़ी दिखी, जो कार के पास जाकर कार में बैठे व्यक्ति से नाम पता पूंछने पर अपना नाम ज्ञानीश सोनी पिता सुरेश कुमार सोनी निवासी रामनगर जिला सतना हाल निवास शाही सिटी गोहलपुर जबलपुर का होना बताया। उक्त व्यक्ति पर संदेह होने पर उसके कार की तलाशी ली गई, जो कार की पिछली सीट में एक बैग इसमें दो नग रजिस्टर, इसमें कई लोगों के नाम, आधार नंबर तथा विवरण लिखे हैं। एक प्लास्टिक की पॉलिथिन के अंदर मानव अधिकार आयोग के लेटर पैड, बैंक पासबुक, पहचान पत्र, विजटिंग कार्ड तथा दूसरी पॉलीथिन में एक माइक इसमें प्रथम न्याय न्यूज लिखा था, रखे हैं। कार के आगे की डिक्की में एक पॉलीथिन में नगद रूपये, दो नग मोबाइल तथा एक थंब मशीन रखी मिलने पर पूछताछ के लिए हमराह स्टाफ संदेही को मय कार के थाना लाया गया। संदेही से सघन पूछताछ करने पर संदेही द्वारा दिनांक 19 नवंबर 2021 को आवेदक हरिमोहन गौतम के साथ धोखाधड़ी का अपराध कराना स्वीकार किया गया। शातिर बदमाश जबलपुर की रहने वाला है जो मध्य प्रदेश के अन्य जिले रीवा, सतना ,मंडला व जबलपुर जिले में भी एक्टिव था। इसके विरूद्ध अलग-अलग जिले के थानों में भी अपराध पंजीबद्ध है।

आरोपित के खिलाफ जिला रीवा थाना बैकुंठपुर में , जिला सतना थाना रामपुर बघेलान में वर्ष 2015 , जिला जबलपुर थाना ग्वारीघाट, जिला कटनी के थाना उपरियापान, जिला कटनी के थाना स्लीमनाबाद में, जिला कटनी थाना कुठला में अपराध दर्ज हैं।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

इसे पकड़ने में थाना प्रभारी कुठला रोहित डोंगरे के मार्गदर्शन में सउनि तीरथ तेकाम, संतोष सिंह, प्रधानआरक्षक रामेशवर सिंह, राजेश चैधरी, अविनाश मिश्रा, व सायबर सेल कटनी से अजय शंकर व सायबर सेल टीम कटनी का आरोपित को गिरफ्तार करने मे विशेष भूमिका रही। इन्हें पुलिस अधीक्षक कटनी द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local