मूंदी। मूंदी से करीबन 12 किमी दूर स्थित ग्राम शिवर टांडी की शासकीय माध्यमिक शाला के करीबन 40 विद्यार्थी बीमार होने से हड़कंप मच गया। बच्चों को सिर दर्द, उल्टी- दस्त व पेट दर्द के शिकायत पर शाम करीब सात बजे एंबुलेंस से मूंदी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है। यहां डॉ. शांता तिर्की और डॉ. गगन दिलावरे ने बच्चों का उपचार किया। प्रारंभिक उपचार के बाद ही अधिकांश बच्चों की तबीयत में सुधार होने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। बच्चों की हालत खतरे से बाहर बतााई जा रही है।

गुरुवार सुबह 11 बजे स्कूल मे प्रार्थना के बाद विद्यार्थियों को शिक्षक- शिक्षिकाओं ने आयरन की गोलियां वितरित की थी। गोली खाते ही कुछ बच्चोंं को स्कूल में ही पेट दर्द और घबराहट होने लगी। स्कूल से छुट्टी होने के बाद बच्चे घर लौटे तो एक के बाद एक बच्चों को उल्टियां होने लगी। बच्चे पेट दर्द की शिकायत करने लगे। कुछ बच्चे सिर दर्द की बात कहने लगे। इससे गांव मे हड़कंप मच गया।

गांव के लोगों ने 108 एंबुलेंस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन के अधिकारी भी अलर्ट हो गए। सभी बीमार बच्चों को मूंदी अस्पताल ले जाने पर वहां भीड़ लग गई। बच्चों को उल्टी दस्त की शिकायत थी उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है बाकी को उपचार देकर रवाना किया गया हैं। शिवर टांडी ग्राम जिले कि किल्लौद ब्लॉक अंतर्गत आता है।

सूचना मिलने पर नायब तहसीलदार विरेंद्र पुराणिक, एसडीओपी घनश्याम बामनिया , मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डीएस चौहान ने भी मूंदी अस्पताल पहुंचकर बीमार बच्चों के हालचाल जाने। बच्चों के बीमार की सूचना मिलने पर विधायक पुत्र दीपक पटेल, पूर्व विधायक स्वर्गीय लोकेंद्रसिंह तोमर के पुत्र विजयबहादुरसिंह तोमर ने भी अस्पताल पहुंच कर बच्चों की स्थिति का जायजा लिया।

पीडित छात्रा मनीषा पिता रमेश ने बताया कि स्कूल पहुंचे तो पहले प्रार्थना हुई उसके बाद स्कूल के शिक्षक शिक्षिकाओं ने सभी बच्चों को आयरन की गोली खाने को दी थी। गोली खाने के बाद सिर दर्द होने लगा। कुछ बच्चों के पेट में भी दर्द हुआ। स्कूल से छुट्टी के बाद घर पहुंचे तो उल्टी होने लगी।

ये बच्चे हुए बीमार

मनीषा पिता रमेश, पार्वती ओमप्रकाश, शिवाजी दिनेश, रिया जसवंत, सरिता हरी, रोशनी रामाधार, किशन हरिराम, राजेश बजेसिंह, अजय अभयसिंह, निर्मला गोपी, योगेश हरी, राजकुमार भीमसिंह, शकीना रामाधार, राजा गणपत, सपना गोविंद, निर्मल भरत, रोहित भीमसिंह, पूनम नंदू, संदीप कमलू, रोहित रामसिह, दीपक किसन, कंचन श्रीराम, संजय भारत, सकुल राजसिह, सकरी ज्ञानु, नितेष गबरू, गोलू गबरू, आकाश तेजू, गोपाल रामदास, ईश्वर किसन, भारती पिता सरवण बीमार हुए हैं। सभी बच्चों की उम्र 12 से 13 साल की है । इन 31 बच्चों के अलावा कुछ बच्चों को लेकर ग्रामीण बाद मेंं भी पहुंचे। करीब 40 बच्चों के बीमार होेने की खबर है ।

इनका कहना है

आयरन गोली भूखे पेट बच्चों को खिलाने के कारण तकलीफ हुई है। आयरन गोली खाना खाने के बाद वितरण करने के निर्देश हमेशा ही दिए जाते हैं। सभी बीमार बच्चों का उपचार दिया गया है। सभी की हालत नियंत्रण में है।

- डॉ. शांता तिर्की, ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर, सीएचसी मूंदी

Posted By: Hemant Upadhyay