खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मध्य प्रदेश के जंगलों में अफ्रीकन के चीतों के बाद जेब्रा और जिराफ भी नजर आएंगे। वन विभाग ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। मध्य प्रदेश के जंगल दुनिया के सबसे अच्छे जंगलों में शामिल हैं। यहां वन्य जीवों के लिए अनुकूल माहौल है। इसके चलते अफ्रीकन चीतों को कूनो नेशनल पार्क लाया जा रहा है। 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चीतों को बाड़े में छोड़ेंगे। जो मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है। यह बात प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह ने खंडवा में चर्चा के दौरान कही। वन विभाग के रेस्ट हाउस में मंत्री शाह ने बताया कि मध्य प्रदेश में चीता प्रोजेक्ट के बाद जेब्रा और जिराफ को यहां लाकर बसाया जाएगा। इससे जंगल में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। हमारे जंगल सभी वन्य प्रजातियों के लिए अनुकूल है। जो देश के सबसे अच्छे जंगलों में शुमार है।

वन्य प्राणीयों के संवर्धन और संरक्षण का अनूठा कार्य

अभी मैने अधिकारियों के साथ अफ्रीका की यात्रा की है। वहां के वन्य प्राणियों का रहन-सहन व व्यवहार देखकर आए हैं। अब जिराफ और जेब्रा भी भोपाल लाएं जाएंगे। वन विभाग इसकी स्टडी कर रहा है। हमारी पहचान दुनिया में टाइगर स्टेट के रूप में है। पुरी दुनिया में वन्य प्राणियों के संरक्षण व संवर्धन के लिए भारत में अनूठा और अद्वितीय कार्य हो रहा है। किसी दूसरे महाद्वीप से वन प्राणियों का पुर्नस्थापन हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कमाल है। यह अंतरराष्ट्रीय घटना है। हमारे जंगल भी अंतरराष्ट्रीय स्तर के हैं। इन्हे सुरक्षित रखना हम सब की जिम्मेदारी है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close