खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मैरिज गार्डन या अन्य स्थलों पर वैवाहिक आयोजनों में एक साथ 200 से अधिक लोगों के शामिल होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। साथ ही मास्क नहीं पहनने और शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माने की कार्रवाई होगी। ये निर्देश कलेक्टर अनय द्विवेदी ने रविवार को कलेक्टोरेट सभागृह में आयोजित जिलास्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में दिए। इस बैठक की अध्यक्षता सांसद नंदकुमार सिंह चौहान और विधायक देवेंद्र वर्मा सहित अन्य भाजपाई भी शामिल हुए।

सांसद और विधायक ने भी अपने सुझाव रखते हुए कलेक्टर से कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर आमजन में जागरूकता लाई जाए। इसके लिए अभियान चलाए जाएं। कलेक्टर ने मातहत अधिकारियों को इस संबंध में निर्देशित किया है। कलेक्टर ने कहा कि नागरिकों को पहले मास्क लगाने की समझाइश दी जाएगी, लेकिन समझाइश के बावजूद जो लोग नहीं मानेंगे, उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। सार्वजनिक स्थलों पर शारीरिक दूरी के प्रावधानों का पालन नहीं करने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में सांसद ने कहा कि शहरी क्षेत्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए जरूरी है कि लोगों को कोरोना संक्रमण की रोकथाम के संबंध में जागरूक किया जाए। शहरी क्षेत्रों में ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से तथा इंटरनेट मीडिया के माध्यम से जागरूकता के संदेश प्रसारित किए जाएं। उन्होंने कहा कि खंडवा जिला अस्पताल में कोरोना मरीजों के

उपचार की व्यवस्थाएं सराहनीय रही हैं। कोरोना संक्रमण को रोकने लिए केवल संक्रमित व्यक्ति के घर को ही कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया जाए। किसी पूरी गली या मोहल्ले को प्रतिबंधित न किया जाए। विधायक देवेंद्र वर्मा ने बैठक में कहा कि सब्जी मंडी, अनाज मंडी, धार्मिक स्थलों पर मास्क लगाने वालों को ही प्रवेश दिया जाना चाहिए। उनके संचालकों को शारीरिक दूरी के नियमों का भी पालन कराना चाहिए।

कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित निजी नर्सिंग होम के प्रतिनिधियों से कहा कि वे कोरोना के लक्षण वाले मरीजों को अपने नर्सिंग होम में भर्ती कर उपचार न करें, बल्कि उन्हें जिला अस्पताल के लिए रेफर करें ताकि उनका बेहतर उपचार किया जा सके। कोरोना संक्रमण के मामले में उपचार में देरी मरीज के लिए घातक हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि मरीज का सही समय पर उपचार प्रारंभ हो।

उन्होंने बताया कि जिले में 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों, ब्लड प्रेशर, हायपरटेंशन जैसे रोगों से पीड़ित मरीजों को चिन्हित किया जा रहा है।

नजर रखने के लिए लगाई ड्यूटी

कलेक्टर ने कहा कि गंभीर रोगों से पीड़ित मरीजों के स्वास्थ्य पर नजर रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग की एएनएम व स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई जा रही है। इन सभी का दायित्व होगा कि वे अपने क्षेत्र के इन चिन्हित लोगों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखें। इन लोगों को बुखार, जुकाम, खांसी जैसी समस्या आने पर उन्हें निकटतम सरकारी अस्पताल में भिजवाकर उपचार कराएं। बैठक में पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह, अपर कलेक्टर नंदा भलावे कुशरे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश परिहार के अलावा जिला भाजपा जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल, हरिश कोटवाले सहित विभिन्ना अधिकारी, जनप्रतिनिधि, व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधि व निजी नर्सिंग होम संचालक भी मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस