Bharat Jodo Yatra खंडवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। राहुल गांधी द्वारा जननायक टंट्या भील और बिरसा मुंडा को लेकर ग्राम बड़ौदा अहीर की सभा में दिए बयान से राजनीतिक छिड़ा विवाद छिड़ गया है। बीजेपी ने इस पर पलटवार करते हुए कहा की राहुल गांधी को आरएसएस पर कोई भी आरोप लगाने से पहले इतिहास और तारीख का पता करना चाहिए।

खंडवा जिले में भारत जोड़ो यात्रा प्रवेश करने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा गुरुवार शाम दिए बयान पर विवाद खड़ा हो गया है। खंडवा में मामा टंट्या भील की जन्मस्थली पर श्रद्धासुमन अर्पित करने आए राहुल गांधी ने टंट्या भील की फांसी के लिए आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया था। इस पर पंधाना विधायक और बीजीपी के प्रदेश प्रवक्ता राम दंगोरे ने एतराज जताया है।

उन्होंने राहुल गांधी को सलाह दी कि पहले सही इतिहास पढ़े फिर आरोप लगाएं। अंग्रेजों ने टंट्या मामा को चार दिसंबर 1890 को फांसी दी थी जबकि संघ की स्थापना करने वाले केशव बलीराम हेडगेवार का जन्म एक अप्रैल 1800 को हुआ था। संघ की स्थापना 27 सितंबर 1925 को हुई थी। राहुल बेवजह बीजेपी और संघ को बदनाम कर रहे हैं।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close