बोरगांव बुजुर्ग (खंडवा)। खंडवा जिले के बोरगांव बुजुर्ग में पिछले एक माह से लगातार गोवंशी पर लंपी वायरस का प्रकोप नजर आ रहा है। प्रतिदिन इनकी मौत होने के मामले सामने आ रहे हैं। बता दें कि गांव में लगातार गोवंशी बीमार हो रहे हैं। शरीर पर फफोले बन रहे हैं और ये खाना-पीना छोड़ रहे हैं।

शिकायतें मिलने के बाद पशु चिकित्सालय बोरगांव से चिकित्सक मौके पर पहुंच कर बीमार पशुओं का उपचार भी कर रहे हैं। पशु चिकित्सा अधिकारी डा.दीपक वास्कले ने बताया कि इनमें लंपी वायरस के लक्षण देखे जा रहे थे। इसी के चलते शनिवार को सात गोवंशी के सैंपल जांच के लिए गए हैं। सोमवार को ये सैंपल खंडवा स्थित लैब में पहुंचाए जाएंगे और अगले दो दिनों में इसकी रिपोर्ट मिल जाएगी। इधर गांव में गली-मोहल्ले कई गोवंशी बीमार हैं। इनकी किसान उपचार के साथ सेवा भी कर रहे हैं। यहां तक कि 11 अगस्त को किसी ने बीमार गोवंशी को डोंगरगांव मार्ग पर छोड़ दिया था। इसके चलते उसकी मृत्यु हो गई थी। गांव के युवाओं ने उसका विधि-विधान से अंतिम संस्कार भी किया था। पशु चिकित्सा अधिकारी डा. वास्कले ने बताया कि अब बोरगांव सहित आसपास के गांव से भी लंपी वायरस के लक्षण वाले गोवंशी की शिकायत प्राप्त हो रही है। अभी वायरस के लक्षण सिर्फ गाय और बैल में ही देखे जा रहे हैं।

मवेशी बाजार में लावारिस मिले छह गोवंशी

इधर शनिवार को बोरगांव मवेशी बाजार में लावारिस अवस्था में छह गोवंशी बाजार के निचले हिस्से में बंधे मिले। गांव के विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल के कार्यकर्ता वासुदेव बसाले ने बताया कि जब इनका मालिक नहीं मिला तो अन्य कार्यकर्ताओं के सहयोग से इन्हें पंचायत के कांजी हाउस में छोड़ा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close