खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के विकास कार्य नगर निगम के ढीले रवैये के कारण गति नहीं पकड़ पा रहे हैं। एक तरफ जहां स्टेशन रोड पर नाले का निर्माण धीमी गति से चल रहा है। वहीं दूसरी ओर लालचौकी क्षेत्र में तो काम शुरू ही नहीं हो पाया है। यहां नाले पर जमे अतिक्रमण को नहीं हटाया जा सका है। ऐसे में ठेकेदार ने काम करने में असमर्थता जता दी है।

जनप्रतिनिधि करोड़ों रुपये की सौगातें शहर विकास के लिए लेकर आ रहे हैं लेकिन नगर निगम के अधिकारियों की कार्यशैली इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। इसका ताजा उदाहरण करीब तीन करोड़ रुपये की लागत से शहर के दो नालों के निर्माण कार्य में देखने को मिल जाएगा। एक तरफ जहां स्टेशन रोड के नाले का निर्माण देरी से शुरू किया गया। दूसरी ओर लालचौकी क्षेत्र में नाले को व्यवस्थित तरीके से बनाने के लिए खुदाई तक शुरू नहीं हो सकी है। यहां लालचौकी रेलवे गेट वाले स्थल से शिक्षक नगर क्षेत्र तक नाले का निर्माण होना है, लेकिन कहीं नाला भूमिगत हो गया है तो कहीं अतिक्रमण के कारण इसकी चौड़ाई संकरी हो गई है। बारिश के दिनों में हर साल इस नाले के चॉक होने की वजह से लोगों के घरों में पानी प्रवेश कर जाता है। स्थिति यह रहती है कि रहवासियों को मोटरपंप लगाकर अपने घरों से पानी बाहर निकालना पड़ता है। जनप्रतिनिधियों ने सरकार से नालों के निर्माण की राशि इसीलिए स्वीकृत कराई थी कि बारिश से पहले निर्माण हो जाए और आमजन की समस्या दूर हो सके, लेकिन निगम अधिकारी इसे लेकर गंभीर नहीं दिखाई दे रहे हैं। निगम अधिकारियों की लापरवाही के कारण इस साल भी लालचौकी क्षेत्र ही नहीं स्टेशन रोड पर भी लोगों को जलभराव की स्थिति से जूझना पड़ेगा।

वर्जन-

लालचौकी क्षेत्र में नाले पर अतिक्रमण के कारण काम शुरू नहीं कर पा रहे हैं। अतिक्रमण हटते ही निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

दीपेश राठौर, ठेकेदार

वर्जन-

अगर अतिक्रमण बाधक बन रहा है तो ठेकेदार हमें पत्र लिखकर दें। पत्र प्राप्त होते ही हमारी टीम द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

प्रदीप कुमार जैन, उपायुक्त, नगर निगम

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close