खंडवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। गणेशोत्सव के दौरान सराफा का श्रीगणेश मंदिर आस्था का केंद्र रहता है। आठवीं शताब्दी के इस मंदिर में विघ्नहर्ता की स्वयंभू मूर्ति विराजित है। यहां मंदिर का जीर्णोद्धार कर मार्बल का भव्य मंदिर तैयार किया जा रहा है। इसके 51 फीट ऊंचे शिखर पर दीपावली के बाद स्वर्ण परत चढ़ा हुआ कलश स्थापित किया जाएगा। सराफा बाजार के मध्य स्थित श्रीगणेश मंदिर गणेशोत्सव के दौरान यहां प्रतिदिन श्रीगणेश का श्रृंगार किया जाता है।

बप्पा के स्वरूप को निहारने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ते हैं। पं. श्याम शर्मा ने बताया कि मंदिर में श्रीगणेश की स्वयंभू मूर्ति विराजित है। यहां आठवीं शताब्दी में मंदिर बनाया गया था। कुछ वर्ष पहले आए पुरातत्व विभाग के दल ने मंदिर के 1200 साल प्राचीन होने की बात बताई थी।

मंदिर में चल रहा कार्य मंदिर में चारों ओर राजस्थान के मार्बल लगाए गए हैं। इन पर नक्काशी कर अष्टविनायक और शिव परिवार की आकृति उकेरी गई है। इसके साथ ही कलश और स्वस्तिक की नक्काशी वाला नया द्वार लगाया गया है। मंदिर का शिखर तैयार है। इस पर करीब पांच फीट ऊंचा कलश जल्द के बाद स्थापित किया जाएगा।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket