खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमणकाल में अपनों को खोने का दर्द झेल रहे लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करने के लिए सोमवार को नईदुनिया के आव्हान पर आयोजित सर्वधर्म प्रार्थना में पूरा शहर जुड़ा। कोरोना संक्रमण से दिवंगत हुए लोगों की आत्मशांति और संक्रमण से लड़ने वालों के स्वास्थ्य लाभ के लिए दो मिनट की मौन प्रार्थना से मानवता जाग उठी।

सोमवार को नईदुनिया के सर्वधर्म प्रार्थना आयोजन में सहभागिता के लिए लोग स्वेच्छा से आगे आए। सामाजिक, साहित्यिक, राजनीतिक और व्यापारिक संगठनों सहित आमजन ने भी कोरोना से पीड़ित लोगों के स्वस्थ होने की कामना की। साथ ही दिवंगतों की आत्मशांति के लिए मौन रखा। जो जहां था वह वहां से सर्वधर्म प्रार्थना का हिस्सा बना। हिंदू, मुस्लिम, सिख और इसाई सभी धर्म के अनुयायियों ने प्रार्थना में सहभागी बनकर संदेश दिया कि मानवता ही सबसे बड़ा धर्म है। टैगोर कालोनी स्थित मंदिर में पंडितों ने भगवान शिव के समक्ष प्रार्थना की तो टपालचाल स्थित गुरुद्वारे में सिख समाज ने अरदास लगाई। सिविल लाइन स्थित चर्च में भी मृतकों की आत्मशांति के लिए प्रार्थना हुई। घासपुरा स्थित जैन मंदिर में भी दिवंगतों की आत्मशांति के लिए प्रार्थना के हाथ उठे। वहीं इमलीपुरा क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय ने मृतकों को खिराजे अकीदत पेश की और संक्रमण से लड़ रहे मरीजों के स्वास्थ्य लाभ के लिए दुआ मांगी। जगह-जगह हुए मौन प्रार्थना आयोजन में कहीं बच्चों ने तो कहीं बुजुर्गों ने भी संवेदनशीलता का परिचय दिया। विभिन्ना संस्थाओं ने प्रार्थना के बाद कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के लिए भी लोगों को प्रेरित किया।

- 35 संगठन बने सर्वधर्म प्रार्थना में सहभागी।

- 110 से अधिक स्थानों पर हुई प्रार्थना सभा।

- 11 बजते ही प्रार्थना कर रखा गया दो मिनिट का मौन।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags