खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कायाकल्प पुरस्कार की दौड़ में शामिल जिला अस्पताल को इस वर्ष भी सांत्वना पुरस्कार से संतोष करना पड़ेगा। लगातार तीन वर्ष से खंडवा को सांत्वना पुरस्कार ही हाथ लग रहा है। सोमवार को जारी कायाकल्प पुरस्कार की राज्य स्तरीय सूची में जिला अस्पताल को सांत्वना की श्रेणी वाले आठ जिला अस्पतालों में छटवां स्थान मिला है। इस श्रेणी में जिला अस्पताल को तीन लाख रुपये की राशि पुरस्कार स्वरूप मिलेगी। वहीं जिले की सात सीएचसी और 31 पीएचसी में से भी मात्र एक सीएचसी को सांत्वना पुरस्कार मिला है। इस वर्ष टीम द्वारा वर्चुअल एसेसमेंट किया गया था।

प्रदेश में कायाकल्प अभियान 2020-21 के परिणाम की घोषणा की गई है। जिला अस्पताल खंडवा इस बार भी कायाकल्प अभियान में फिसड्डी साबित हुआ है। कायाकल्प अंतर्गत वर्ष 2015-16 से प्रदेश में उल्लेखनीय स्थान मुकाम हासिल करने वाला जिला अस्पताल साल दर साल पिछड़ रहा है। दो साल से सांत्वना पुरस्कार से संतोष करना पड़ रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीएचसी की श्रेणी में जिले के इकलौते किल्लौद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ने लाज रखते हुए सांत्वना स्वरूप एक लाख रुपये का पुरस्कार हासिल किया। जिला अस्पताल में मेडिकल कालेज का समावेश होने के बाद से कायाकल्प में निराशा का सामना करना पड़ रहा है। जानकारों का कहना है कि मेडिकल कालेज के हिसाब से यहां संसाधन और पर्याप्त स्टाफ नहीं होने का खामियाजा जिला अस्पताल को उठाना पड़ रहा है।

आठ जिलों में मिला छठास्थान

कायाकल्प अभियान में जिला अस्पताल की श्रेणी में प्रथम स्थान पर जबलपुर को प्रथम स्थान हासिल करने पर 50 लाख, दूसरे स्थान पर भोपाल को 20 लाख और तीसरे स्थान पर विदिशा को 10 लाख का पुरस्कार मिला है। इसी प्रकार एक्सिलेंस पुरस्कार की श्रेणी में सिवनी अस्पताल को 15 लाख रुपये तथा तेजी से सुधार करने के लिए नीमच जिला अस्पताल को 5 लाख रुपये का पुरस्कार मिला है। खंडवा जिला अस्पताल सांत्वना पुरस्कारों की सूची में भी छठे स्थान पर है। हालांकि सांत्वना पुरस्कार तीन लाख रुपये प्रदेश के आठ जिला अस्पतालों को मिला है।

तीन सदस्यीय दल ने किया था आकलन

कायाकल्प अभियान अंतर्गत जिला अस्पताल का तीन सदस्यीय राज्य स्तरीय दल ने आठ फरवरी को निरीक्षण किया था। इसका यहां पर मरीजों के वार्ड, पैथालाजी लैब, ब्लड बैंक सहित आपरेशन थिएटर देख कर व्यवस्थाओं का आंकलन कर अंक दिए थे। दल के सदस्यों द्वारा प्रस्तुत विस्तृत रिपोर्ट के आधार पर वार्षिक आधार पर कायाकल्प में जिला अस्पताल को रैंक मिली है। विदित हो कि आठ फरवरी को सुबह 11 बजे टीम के सदस्य अस्पताल पहुंचे थे। टीम में डा. यशवंत वर्मा, डा.अंकिता पाल व सविता चांदोलकर ने ओपीडी देखी थी। अलग-अलग कक्षों में पहुंचकर चिकित्सक व कर्मचारियों से आवश्यक जानकारी हासिल की थी। मरीजों से चर्चा और अस्पताल में सफाई का जायजा लिया था। टीम ने डस्टबिन निर्धारण व्यवस्था व डिस्पोज की जानकारी भी ली थीं। यह सब मोबाइल की मदद से आनलाइन भोपाल में भी देखा जा रहा था। देखा था। इसके बाद टीम ने बी ब्लाक, ओपीडी, आइपीडी, पैथोलाजी लैब, आपरेशन थिएटर, आइसीयू वार्ड में व्यवस्था देखी।

सिविल सर्जन डा.ओपी जुगतावत ने बताया कि टीम ने कायाकल्प के निर्धारित बिंदुओं के आधार पर भौतिक सत्यापन व निरीक्षण किया था। इसके आधार पर हमें सांत्वना वाले जिलों में छंटवा स्थान मिला है। भविष्य के लिए जरूरी सुधार और व्यवस्थाएं की जाएंगी।

मेडिकल कालेज से पिछले रैंक

नेशनल इश्योरेंस स्कीम अंतर्गत स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए संचालित कायाकल्प अभियान में जिला अस्पताल वर्ष 2016 से शामिल है। वर्ष 2015-16 से जिला अस्पताल प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा। वहीं वर्ष 2016-17 और 2017-18 में तृतीय पुरस्कार मिला। इसके बाद वर्ष 2018-19 और 2019-20 की तरह वर्ष 2020-21 में भी रैंकिंग खिसककर सांत्वना की श्रेणी तक आ गई है। जिला अस्पताल परिसर में मेडिकल कालेज का कार्य चलने और आपसी सामंजस्य के अभाव से यहां की व्यवस्थाओं पर प्रभाव पड़ रहा है। वर्ष 2020-21 के लिए हुए इस राज्य स्तरीय कायाकल्प में जिला अस्पताल को 75 फीसद से अधिक अंक मिलने की उम्मीद थी। सर्वे के पूर्व हुए आंतरिक आंकलन में 72 फीसद अंक मिले थे। इसके बाद सामने आई कमियों को सुधारा गया था लेकिन इसके बाद भी टीम के आंकलन में जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं और सुविधाएं खरी नहीं उतर सकीं है। इसके आधार पर जिला अस्पताल का भविष्य तय हुआ है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags