खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मानसिक रूप कमजोर दो बालिकाओं को कलेक्टोरेट में कोई छोड़ गया। इन्हें महिला द्वारा छोड़कर जाने की बात सामने आ रही है। दोपहर तक र्मचारियों ने इनकी देखभाल की। दोनों अपना नाम और पता भी नहीं पता पा रही थी। इसके बाद चाइल्ड लाइन के हवाले किया गया।

बुधवार को दोनों बालिकाएं अपर कलेक्टर कार्यालय के कक्ष के पास काफी समय से बैठी हुई थीं। उम्र तीन से चार साल है। बालिकाओं को देख कर्मचारियों ने उनके स्वजनों की तलाश की। कलेक्टोरेट के साथ ही

न्यायालय परिसर और आसपास के क्षेत्र में स्वजन को तलाशा गया, लेकिन उनके बारे में पता नहीं चल सका।

इसके बाद कर्मचारी बालिकाओं की देखभाल में लग गए। दोनों को नाश्ता करवाया। दोपहर तक स्वजन का इंतजार किया। जब कोई नहीं आया तो कोतवाली थाने में सूचना दी गई। पुलिसकर्मियों ने भी स्वजन को आसपास तलाशा। लोगों को बालिकाओं की फोटो भी दिखाई, लेकिन किसी ने भी उनके बारे में जानकारी नहीं दी। लोगों का कहना था कि बालिकाओं को पहली बार इस क्षेत्र में देखा। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने चाइल्ड लाइन को सूचना देकर कर्मचारियों को बुलाया। पुलिस ने चाइल्ड लाइन के कर्मचाारियों को दोनों बालिकाओं का सौंपा है।

कैंटीन में बैठे देखा था

कलेक्टोरेट के एक कर्मचारी का कहना है कि सुबह करीब आठ बजे दोनों बालिकाएं खनिज कार्यालय के पास स्थित कैंटीन में बैठी हुई थीं। तब इनके पास एक महिला थी, लेकिन कुछ देर बाद करीब 10 बजे इन बालिकाओं को कलेक्टोरेट में लाकर किसी ने छोड़ दिया। बालिकाओं को यहां छोड़ने वाले का पता लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखें जा रहे है। कोतवाली थाना प्रभारी बलजीत सिंह बिसेन ने बताया कि बालिकाओं को चाइल्ड लाइन को सौंपा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local