Khandwa Crime News: खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उज्जैन महाकाल मंदिर के पास एक आश्रम में प्रसादी लेने के लिए लाइन में लगे पत्नी की हत्या के आरोपित पति राकेश को पुलिस ने दबोच लिया। उसे दबोचने के लिए पुलिसकर्मियों को भी प्रसादी की लाइन में लगना पड़ा। सिविल ड्रेस में पुलिसकर्मी करीब एक घंटे तक कतार में लगे रहे।

मामला मांधाता थाना क्षेत्र के ग्राम गोल का है। मायके में रही रही 40 वर्षीय गोदावरी मोहे की हत्या कर उसका पति आरोपित राकेश मोहे फरार हो गया था। इसके बाद से राकेश की तलाश की जा रही थी। मांधाता थाने के टीआइ बलराम सिंह राठौड़ को मुखबिर से सूचना मिली कि राकेश महाकाल मंदिर के पास आश्रम में प्रसादी खाने रोज आता है। इसके बाद उन्होंने पुलिस टीम को महाकाल मंदिर के पास सिविल ड्रेस में लगा दिया। शुक्रवार को सुबह से पुलिसकर्मी प्रसादी की लाइन में लगकर उसका इंतजार कर रहे थे। करीब एक घंटे इंतजार के बाद राकेश प्रसादी लेने आया। उसे लाइन में लगते ही पहचान लिया। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर मांधाता थाने लाया गया। यहां से पूछताछ के बाद उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

साथ जाने से मना करने पर कर दी थी हत्या

दुर्घटना में राकेश के पैर में चोट लगी थी। इससे वह भारी काम नहीं कर पा रहा था। वह चाहता था कि पत्नी बच्चों के साथ उसके पास ग्राम सिहाड़ा में रहे। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद होते रहते थे। इस वजह से गोदावरी करीब ढाई साल से अपने बच्चों के साथ ग्राम गोल में अपनी मां के साथ रह रही थी। दो मई को राकेश पत्नी गोदावरी से ग्राम गोल घर पर मिला था। यहां उसे साथ गांव चलने के लिए कहा, लेकिन गोदावरी ने साथ जाने से मना कर दिया। इससे गुस्साए राकेश ने पत्नी गोदावरी के पेट, सीने और गले में चाकू घोंप कर उसकी हत्या कर दी थी।

पहचान छुपाने के लिए बढ़ा ली थी दाढ़ी

आरोपित राकेश ने अपनी पहचान छुपाने के लिए दाढ़ी बढ़ा ली थी, लेकिन पुलिस की नजर से वह नहीं बच सका। उज्जैन महाकाल मंदिर पहुंचे पुलिसकर्मी अपने साथ राकेश की फोटो ले गए थे और पकड़ लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local