खंडवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे स्टेशन पर मंगलवार दोपहर दो बजे मुंबई की ओर जाने वाली कामायनी एक्सप्रेस प्लेटफॉर्म नंबर एक पर आकर रुकी। कोच में सवार होने के लिए धक्का-मुक्की होने लगी। 100 यात्रियों की क्षमता वाले कोच में 150 यात्री पहले ही सवार थे, खंडवा से 120 यात्री और चढ़ गए। भीड़ के कारण एक वृद्ध ट्रेन से उतर ही नहीं पाया। वृद्ध के साथ यात्रा कर रही किशोरी ने जीआरपी आरक्षक को बुलाया, उसने वृद्ध को कोच से नीचे उतारा और ट्रेन रवाना हो गई। बारिश के कारण बाधित हुए मुंबई रेलवे ट्रैक पर कुछ ट्रेनों की आवाजाही शुरू हुई है, वहीं कई ट्रेनें अब भी रद्द हैं।

रेलवे स्टेशन पर सबसे अधिक परेशानी मुंबई जाने वाले यात्रियों को होना पड़ा। यात्री बार-बार रेलवे अधिकारियों और पूछताछ केंद्र से ट्रेनों की जानकारी लेते रहे। दोपहर में 500 से अधिक यात्री मुंबई की ओर जाने के लिए ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच कामायनी एक्सप्रेस के आने की घोषणा हुई। ऐसे में ट्रेन के आने से 10 मिनट पहले ही यात्री प्लेटफॉर्म पर जाकर खड़े हो गए।

ट्रेन के आते ही कोच में सवार होने के लिए धक्का-मुक्की हुई। ऐसे में उतरने वाले यात्रियों को भी परेशान होना पड़ा। इंजन के पीछे लगे जनरल कोच में 120 से अधिक लोग सवार हुए। ट्रेन के रवाना होने के लिए तैयार हो गई, इस बीच एक वृद्ध चिल्लाया कि मुझे उतरना है। उसके साथ यात्रा कर रही किशोरी ने जीआरपी आरक्षक को बुलाया। जवान ने मदद कर वृद्ध को उतारा। ट्रेन का जनरल कोच खचाखच भरा नजर आया।

ये ट्रेनें रद्द

मंगलवार को अमृतसर-मुंबई, वाराणसी-एलटीटी, छपरा-एलटीटी, काशी एक्सप्रेस, पुष्पक एक्सप्रेस, मंगला एक्सप्रेस, कोलकाता मेल, पंजाब मेल और रक्सोल-एलटीटी एक्सप्रेस रद्द रहने के कारण यात्री परेशान हुए। मुंबई-आसनसोल एक्सप्रेस बुधवार को रद्द रहेगी।

एक हजार से अधिक टिकट रद्द

रविवार से मंगलवार के बीच खंडवा से देश के विभिन्न क्षेत्रों में जाने वाले यात्रियों को परेशान होना पड़ा। तीन दिन में करीब एक हजार टिकट रद्द हुए। लगभग सवा दो लाख रुपए का रिफंड रेलवे ने दिया, वहीं अन्य ऑनलाइन टिकट भी रद्द हुए।

पूछताछ केंद्र पर लगातार भीड़

रेलवे स्टेशन के पूछताछ केंद्र पर अब भी भीड़ नजर आ रही है। सबसे अधिक यात्री मुंबई और नासिक की ओर जाने के लिए परेशान हैं। देश के अन्य क्षेत्रों में जाने की ट्रेन नहीं मिलने पर यात्री इटारसी तक जाकर वहां से ट्रेन बदल रहे हैं।

तीन दिनों से ट्रैक बाधित

मुंबई में गत दिनों हुई बारिश के कारण तीन दिनों से रेलवे ट्रैक प्रभावित है। सोमवार रात तक तो ट्रेनें भुसावल और मनमाड़ तक ही जा सकीं। मंगलवार सुबह से ट्रेनों को लोकमान्य तिलक टर्मिनस और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस तक भेजा जा सका। ऐसे में यात्रियों को थोड़ी राहत मिली है। बुधवार से अन्य ट्रेनों की आवाजाही भी सुचारू होने की उम्मीद है। विदित हो कि मुंबई व आसपास के क्षेत्रों में तेज बारिश के कारण कई जगह ट्रैक पर पानी भरा गया था, वहीं कुछ क्षेत्रों में ट्रैक के नीचे से बैस बह गया था। जिस कारण ट्रेनों की आवाजाही को रोक दिया गया था।