वसंत पंचमी : मंदिरों और स्कूलों में हुए आयोजन, पीले वस्त्रों में मंदिरों में पहुंचे श्रद्धालु, अबूझ मुहूर्त में विवाह बंधन में बंधे जोड़े

खंडवा। नईदुनिया प्रतिनिधि

वसंत पंचमी पर मंदिरों और शैक्षणिक संस्थाओं में मां सरस्वती का पूजन हुआ। हवन व पूजन के साथ ही विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। स्कूलों में छात्राएं मां सरस्वती की वेशभूषा में पहुंची। यहां हवन पूजन के साथ मैया से विद्या का वरदान मांगा गया। कहीं माता का विशेष श्रृंगार किया गया, तो कहीं विशेष आरती हुई। मंदिरों में लोग पीले वस्त्र पहनकर पहुंचे।

वसंत पंचमी पर अग्रवाल महिला प्रगति ग्रुप द्वारा अग्रवाल धर्मशाला में वसंतोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया। यहां महिलाएं पीले रंग की साड़ियां पहनकर पहुंची। महिलाओं ने भजन किए और नृत्य भी किया। ग्रुप की अध्यक्ष निहारिका बंसल ने बताया कि महिलाओं ने सामूहिक पूजन किया। इसके साथ ही भजन गाकर वसंतोत्सव मनाया।

यहां रही भीड़

वसंत पंचमी पर रविवार को शहर के सराफा बाजार स्थित शीतला माता मंदिर, लालचौकी के महालक्ष्मी मंदिर और गायत्री मंदिर स्थित मां सरस्वती की मूर्ति के पूजन के लिए सुबह से श्रद्धालु पहुंचे। मंदिर में मैया के पूजन के साथ फल व मिठाईयों का भोग लगाया गया। इसके साथ ही मैया की मूर्तियों का विशेष श्रृंगार भी किया गया।

स्कूल में हुआ हवन

सरस्वती शिशु मंदिर कल्याणगंज में बसंत पंचमी पर छात्राएं मां सरस्वती की वेशभूषा में पहुंची। यहां मनोज उपाध्याय, प्रदीप पालीवाल और मनीष शर्मा ने हवन किया। यहां श्री विवेकानंद बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष संध्या गंधे, सचिव रामचंद्र मौर्य, प्राचार्य प्रवीण पाराशर और तनीश गुप्ता सहित अन्य उपस्थित रहे।