- मैनेजर ने नर्मदा की पूजा कर शुरू करवाया बोट क्लब

- बारिश थमने और छुट्यिां होने से बढ़ी पर्यटकों की तादाद

बीड़। नईदुनिया न्यूज

इंदिरा सागर का जलस्तर बढ़ने से संत सिंगाजी महाराज की समाधि और पर्यटन स्थल हनुवंतिया में भी जलस्तर बढ़ने से रौनक लौट आई है। इसके चलते हनुवंतिया में क्रूज का संचालन फिर शुरू कर दिया है। रविवार को मां नर्मदा की पूजा-अर्चना कर बोट क्लब की शुरुआत की गई। वहीं सालभर से खड़े क्रूज का संचालन भी संत सिंगाजी महाराज और मां नर्मदा के जयकारे के साथ शुरू कर दिया गया। बारिश थमने और छुट्टियां लगने से पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो गई है। रविवार शाम तक तीन हजार पर्यटकों ने यहां पहुंचकर स्पीड बोट और क्रूज का लुत्फ उठाया।

इंदिरा सागर बांध के बैकवॉटर में स्थित हनुवंतिया पर्यटन कें द्र पर पर्यटकों की चहल-पहल और रौनक आ गई है। बांध का जलस्तर 258.91 मीटर पहुंचने से हनुवंतिया स्पोर्ट क्लब की रैलिंग से करीब आठ फीट पानी नीचे रह गया है। इससे वॉटर स्पोटर्स क्लब अंतर्गत मोटरबोट, स्कू टर, स्पीड बोट और क्रूज का संचालन सुचारु रुप से होने लगा है। पिछले वर्ष कम बारिश के कारण बांध में जलस्तर पर्याप्त नहीं होने से क्रूज का संचालन बंद कर दिया गया था लेकि न इस बार उम्मीद लगाई जा रही कि यहां जलस्तर अच्छा रहने से पर्यटक गर्मी के दिनों में क्रूज की सवारी का मजा ले सकें गे।

हाऊस बोट नहीं चलने से शासन को नुकसान

हनुवंतिया में जलस्तर कम रहने से क्रूज और हाऊस बोट को लगभग आठ कि लोमीटर दूर बैकवॉटर में खड़ा कि या गया था। गर्मी के दिनों में तेज आंधी के कारण हाऊस बोट का ऊपरी हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है। इसे देखते हुए इसे कि नारे पर लाकर खड़ा कर दिया है लेकि न उसका संचालन शुरू नहीं कि या है। बताया जाता है कि के रल की विशेष लकड़ी से निर्मित इस हाऊसबोट की चटाई और डेकोरेशन पूरी तरह खराब हो गया है। इसे सुधारने के लिए के रल से कारीगर आएंगे। जल महोत्सव के समय ही हाऊस बोट में पर्यटक ठहरते हैं। करीब एक साल में हाऊस बोट की एक भी बुकि ंग नहीं हुई है। व्यापक प्रचार-प्रसार के अभाव और पर्यटन निगम के अधिकारियों की अदूरदर्शिता से करोड़ों रुपए की लागत का हाउस बोट लावारिस खड़ा है। वहीं लगभग एक साल से क्रूज भी नहीं चलने से करोड़ों रुपए का शासन को नुकसान हो रहा है।

निजी कंपनी भी करवा रही है बोटिंग

हनुवंतिया में निजी कंपनी द्वारा भी बोटिंग कराई जा रही है। इसकी बुकि ंग और टिकट पर्यटन निगम द्वारा दिया जाता है। निगम द्वारा दस प्रतिशत राशि काटकर ठेके दार को पैसा दिया जाता है। बताया गया है कि हनुवंतिया में कोई भी व्यक्ति अपनी निजी बोट क्लब डाल सकता है, जिसके लिए पर्यटन निगम से अनुमति और रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। इसमें दस प्रतिशत पर्यटन निगम को देना पड़ेगा इसके बाद हनुवंतिया में वोट चला सकते हैं।

सितंबर में और आ सकती हैं बोट

सितंबर माह में पानी के लेवल को देखते हुए हनुवंतिया में संचालन के लिए बोट और बुलाई जा सकती हैं। मैनेजर अजय श्रीवास्तव द्वारा हनुवंतिया में बच्चों के लिए वीरबोल बोट, बनाना, मिनी क्रूज, स्प्रेड बोर्ड की भी मांग की गई है।

रविवार को रही पर्यटकों की भीड़

छुट्टी होने से रविवार को हनुवंतिया में पर्यटकों की भीड़ रही। सोमवार को ईद होने से लोग परिवार के साथ छुट्टी का आनंद लेने यहां बड़ी संख्या में उमड़ेंगे। इसे देखते हुए पर्यटन निगम द्वारा आवश्यक तैयारी की गई है। क्रूज को भी चालू कर दिया गया है।

नवंबर में जल महोत्सव की सुगबुगाहट

इस वर्ष नवंबर या दिसंबर में जल महोत्सव का आयोजन हो सकता है। इसके मद्देनजर पर्यटन विकास निगम द्वारा तैयारी की जा रही है लेकि न अभी इसकी तारीख तय नहीं है। जल महोत्सव के लिए पर्यटन निगम द्वारा हनुमंतिया में दो बोट क्लब और बना दिए हैं। वहीं कॉटेज के लिए प्लेटफॉर्म भी तैयार कर दिए गए हैं। उम्मीद लगाई जा रही है कि इस बार दिसंबर में यह जल महोत्सव एक माह का हो सकता है।

जलस्तर बढ़ने से शुरू कि या क्रूज

पानी का लेवल अच्छा खासा बढ़ गया है। इसे देखते हुए क्रूज को चालू कर दिया गया है। पर्यटकों की संख्या भी बढ़ने लगी है। रविवार को अच्छी भीड़ रही। जल महोत्सव को लेकर भोपाल स्तर पर चर्चा और तैयारी शुरू हो गई है। अभी तारीख तय नहीं हो पाई है।

- अजय श्रीवास्तव, मैनेजर, हनुवंतिया पर्यटन विकास निगम

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस