- मूंदी थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंपकर पीड़ित परिवार ने उठाई मांग

मूंदी। नईदुनिया प्रतिनिधि

पर्यटन स्थल हनुवंतिया में मारपीट के मामले को लेकर रविवार को पीड़ित परिवार के साथ एक प्रतिनिधिमंडल ने दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर मूंदी थाने में ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर पीड़ित परिवार ने पुलिस की कार्रवाई पर असंतोष जताते हुए आरोप लगाया कि पुलिस अपराधियों को संरक्षण दे रही है।

मूंदी के परिवार के साथ हनुवंतिया में सुरक्षा गार्डों द्वारा मारपीट कि ए जाने का मामला गरमा गया है। रविवार को पीड़ित अतुलसिंह, विपुलसिंह और आशीष सिंह के परिजनों ने प्रतिनिधिमंडल के साथ बस स्टैंड से थाने तक रैली निकाली। यहां थाना प्रभारी अंतिम पंवार को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन सौंपने के दौरान उत्तमपालसिंह, नारायणसिंह तोमर, विधायक पुत्र दीपक पटेल, नगर परिषद अध्यक्ष संतोष राठौर, अत्ताहुसैन मलिक, अनिल राठौर, नहारु पटेल, गनी ठेके दार, हरिराजसिंह पुरनी, शब्बीर खत्री, नवीन राठौर, गोलू अग्रवाल, लक्ष्मण पटेल, इस्माइल जाजम एवं अन्य गणमान्यजन मौजूद थे। इस मौके पर पीड़ित परिवार की महिलाओं ने भी अपने बयान दर्ज कराए और आरोपितों पर कार्रवाई की मांग की। साथ ही पर्यटन कें द्र में लगे कै मरे भी खंगाले जाने की मांग उठाई। ज्ञापन में हनुवंतिया पर्यटन स्थल पर ड्यूटी देने वाले सुरक्षा गार्डों का रिकॉर्ड दिए जाने, महिलाओं के साथ हुई बदसुलूकी को लेकर उनका भी मेडिकल कराए जाने की मांग की गई। थाने में करीब एक घंटे तक नगरवासी एवं जनप्रतिनिधि जमे रहे। विदित हो कि परिवार अतुलसिंह का भाई अमितसिंह भारतीय फौज में कार्यरत है। वर्तमान में थलसेना कश्मीर में सेवा सेवा दे रहे हैं। प्रतिनिधि मंडल ने चेतावनी दी है कि यदि कार्रवाई संतोषप्रद नहीं हुई तो नगर बंद कि या जाएगा। ज्ञापन की प्रति मुख्यमंत्री, पर्यटन मंत्री, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को भी भेजी गई। मारपीट में घायल हुए अतुलसिंह की बहन भावना ने थाना प्रांगण में पुलिस कार्रवाई संतोषप्रद नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस अपराधियों को ही संरक्षण दे रही है। उन्होंने कहा कि हनुवंतिया पर्यटन स्थल में भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए पुलिस प्रशासन उचित कार्रवाई करे।

क्या था मामला

16 अगस्त को हनुवंतिया पर्यटन स्थल पर मूंदी निवासी आशीष सिंह, अतुलसिंह और विपुलसिंह परिवार के साथ घूमने पहुंचे थे। उनके साथ महिलाएं और बच्चे भी थे। बच्चों के लिए बोतलों में दूध लेकर जा रही महिलाओं को गेट पर ही गार्ड ने रोक लिया। इस पर परिवार ने आपत्ति ली। विवाद करते हुए गार्डों ने तीनों युवकों के साथ मारपीट शुरु कर दी। यही नहीं परिवार की महिलाओं के साथ भी झूमाझटकी की गई। अतुलसिंह के सिर पर एक गार्ड ने बोतल मार दी। अतुल की आंख में गंभीर चोट आने पर उसे इंदौर रेफर कि या गया था। रविवार को उपचार के बाद अतुल को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पूरे मामले में थाना प्रभारी ने परिजन को आश्वस्त कि या है कि वे स्वयं मामले की विवेचना करेंगे और जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस