खंडवा। नर्मदा जल का वितरण बार-बार प्रभावित होने से शहरवासियों को पेयजल के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को शाम तक शहर में नर्मदा जल के ओवरहेड टैंक नहीं भरे जाने से जलसंकट की स्थिति रही। त्योहारों के ऐन मौके पर पानी नहीं मिलने से परेशान लोग नगर निगम के अधिकारियों से संपर्क करते रहे। कुछ क्षेत्रों में नर्मदा की लाइन से डायरेक्ट सप्लाय की गई लेकिन यहां भी प्रेशर से पानी नहीं मिल सका।

बारिश के दिनों में भी शहरवासियों को जलसंकट का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को चारखेड़ा फिल्टर प्लांट पर विद्युत पैनल में आए फाल्ट को सुधार दिए जाने के बावजूद दूसरे दिन गुरुवार को शहर में समय पर वार्डो में नर्मदा जल नहीं बंट सका। लोग दिनभर नलों से पानी आने का इंतजार करते रहे। जिन क्षेत्रों में जलापूर्ति प्रभावित हुई वहां निगम की टीम ने सूचना देना तक उचित नहीं समझा किपानी कब तक बंटेगा। त्योहार पर जलसंकट की स्थिति का सामना कर रहे लोगों में आक्रोश देखा गया। विश्वा कंपनी द्वारा बुधवार रात करीब 3.30 बजे चारखेड़ा प्लांट से तीन मोटरपंप चलाकर पानी छोड़ा गया था जो गुरुवार सुबह 8.30 बजे शहर स्थित सर्किट हाउस के संपवेल में पहुंचा। हालांकियहां से ओवरहेड टैंक भरने की बजाए वार्डो में डायरेक्ट सप्लाय शुरू कर दी गई। ऐसे में अधिकांश क्षेत्रों में पानी पहुंच ही नहीं पहुंच सका। देर शाम को निगम द्वारा शहर के ओवरहेड टैंकों को भरने की प्रक्रिया शुरू की गई। जल वितरण प्रभारी राजेश गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार से शहर में जलापूर्ति नियमित रूप से हो सकेगी।

चारखेड़ा फिल्टर प्लांट के विद्युत पैनल में बुधवार दोपहर को फाल्ट के कारण शहर की सीमा से लगे वार्डो में जलापूर्ति नहीं हो सकी थी। गुरुवार को इन वार्डो के रहवासी जलसंकट से परेशान होते रहे। भीमराव आंबेडकर वार्ड, सूरजकुंड वार्ड, सांईरामनगर, नीलकंठेश्वर, खानशाहवली वार्ड सहित अन्य वार्डो के लोगों में दूसरे दिन भी पानी नहीं मिलने से आक्रोश देखा गया। पंजाब कॉलोनी की महिलाओं ने कहा कित्योहार पर भी पानी नहीं दिया जा रहा है। सुक्ता फिल्टर प्लांट से भी जलापूर्ति नहीं की जा रही है। चाबीमैन द्वारा पानी देने का समय तक निश्चित नहीं किया जाता। इससे भी परेशानी होती है। इधर आनंदनगर, शास्त्रीनगर, सुभाषनगर, किशोरनगर, रामेश्वर वार्ड सहित दुबे कॉलोनी, संजयनगर वार्ड, श्रीदादाजी वार्ड, बॉम्बे बाजार, बुधवारा बाजार क्षेत्र, हाटेकेश्वर वार्ड, रमा कॉलोनी में भी लोग नर्मदा जल का इंतजार करते रहे। प्रभावित क्षेत्रों के रहवासियों का कहना था किनर्मदा जल योजना में कनेक्शन लेने के बाद भी पानी नहीं दिया जा रहा है। इससे जलसंकटका सामना करना पड़ रहा है।

बारिश के कारण नदियों में बनी बाढ़ की स्थिति के कारण चारखेड़ा स्थित बैकवॉटर में टर्बिडिटी (मटमैलापन) दूर नहीं हो पा रहा है। गुरुवार को जिन क्षेत्रों में नर्मदा की लाइन से डायरेक्ट जलापूर्ति की गई वहां मटमैला पानी वितरित हुआ। निगम के जल वितरण प्रभारी गुप्ता ने बताया किपानी में टर्बिडिटी बढ़ गई है। विश्वा कंपनी को ब्लीचिंग और एलम की मात्रा बढ़ाकर स्वच्छ पानी देने के लिए कहा गया है।