खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। करीब डेढ़ साल बाद गणेश गोशाला स्थित नए बस स्टैंड पर बुधवार को फिर रौनक लौट आई। यहां बस स्टैंड शुरू होने के पहले ही दिन चहल-पहल रही। सुबह से बसों के यहां पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था। बस स्टैंड इंदौर, खरगोन और बुरहानपुर के यात्रियों से पटा रहा। हालांकि पहला दिन होने से यात्रियों को अव्यवस्था का सामना करना पड़ा। ट्रैफिक पुलिस ने ओवर लोड ऑटो को खाली करवाया। ऑटो में निर्धारित की गई क्षमता के अनुसार ऑटो चलाने की हिदायत दी गई। इसके साथ ही ड्रेस कोड में आने के लिए कहा गया। इधर पुराने बस स्टैंड पर कुछ बस चालक मनमानी करते नजर आए। इंदौर रूट की बसों में सवारी बैठाने का सिलसिला यहां दोपहर 3ः30 बजे तक चलता रहा।

बुधवार को सुबह करीब सात बजे से नए बस स्टैंड पर इंदौर, बुरहानपुर, खरगोन और बड़वानी रूट की बसें रुकने लगी। इसी बस स्टैंड से अब इस सभी रुटों की बसों का संचालन होगा। इधर बस स्टैंड के शुरू होने का पहला ही दिन होने से सुबह से ही ट्रैफिक थाने के सूबेदार धरम जामोद, एसआई ज्योति रघुवंशी अपने स्टॉफ के साथ बस मोर्चा संभाले हुए रहे। पुलिसकर्मियों ने बसों को रुट के मुताबिक खड़ा करवाया। इंदौर रुट से शुरुआत की गई। बस स्टैंड पर यात्रियों को आवगमन भी बना रहा। उन्हें आसानी से अपने गंतव्य तक जाने के लिए बसें मिलती रही। वहीं दूसरी तरफ बुरहानपुर, इंदौर, खरगोन और बड़वानी मार्ग से बसों से आने वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशन और पुराने बस स्टेशन जाने के लिए ऑटो की व्यवस्था रही। यहां से 10 रुपये सवारी लेकर ऑटो चालकों ने सवारियों को स्टेशन और बस स्टैंड पर छोड़ा। आनंद नगर और रामनगर जाने के लिए सेल्फ ऑटो मिलते रहे।

बस स्टैंड पर रही अव्यवस्था

बस स्टैंड का पहला दिन अव्यवस्था भरा रहा। यात्रियों को यहां पेयजल के लिए परेशान होना पड़ा। पेयजल की व्यवस्था नहीं रही। इसी तरह से यहां वाहन पार्किंग को लेकर भी समस्या रही। बस स्टॉप पर स्वजन व रिश्तेदारों को छोड़ने आए लोगों को अपने दो पहिया वाहन खड़े करने में परेशानी हुई। वे अपने वाहन बेतरतीब ढंग से खड़े करते रहे। इसके साथ ही यात्री प्रतीक्षालय के सामने भी बसों को खड़ा कर दिया गया था। इससे आवागमन में लोगों को समस्या हुई।

ड्रेस कोड में नजर आएंगे अब ऑटो चालक

बस स्टैंड पर ऑटो की भरमार रही। मनमाने ढंग से ऑटो चालक सवारी बैठाने में लगे रहे। यह देख सूबेदार धरम जामोद ने ऑटो चालकों को एक साथ खड़ा कर उन्हें समझाइश दी। उन्होंने ऑटो चालकों से कहा कि यहां हठधर्मिता नहीं चलेगी। ऑटो की क्षमता के अनुसार ही सवारी बैठाना होगी। प्रति सवारी 10 रुपये ले सकते हो, इससे अधिक रुपये लेने की शिकायत मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही ऑटो चालक ड्रेस कोड में नजर आएंगे। खाकी रंग की शर्ट और उस पर उनका नाम लिखा होना चाहिए। ताकि उनकी पहचान हो सके। इसके साथ यह भी कहा कि ऑटो स्टैंड बना दिया गया है। बसों के पास कोई भी ऑटो नहीं ले जाएगा। सवारी स्टैंड से ही बैठाना है।

प्रतिबंध के बावजूद चलती रही बसें

पुराने बस स्टैड से इंदौर, बुरहानपुर, खरगोन और बड़वानी की बसों पर प्रतिबंध है। इसके बावजूद कुछ बस चालक पुराने बस स्टैंड से ही बसों में सवारी बैठाते हुए नजर आए। यहां दोपहर तक यह आलम बना रहा। किसी ने सुलभ कॉम्प्लेक्स के पास बस खड़ी कर दी थी। यहां से सवारी को बैठाया गया। इधर ग्रामीण रुट की बसों की वजह से यातायात भी बाधित होता रहा। बस चालक मुख्य रोड पर ही बस खड़ी कर रहे थे। इससे अग्रसेन चौराहे पर जाम लग गया। ऑटो चालक भी बस स्टैंड के अंदर घूमते रहे।

- पुराने बस स्टैंड से ग्रामीण रुट की बसें संचालित होंगी। इंदौर, बुरहानपुर, खरगोन और बड़वानी रुट की बसों के लिए नया बस स्टैंड शुरू किया गया है। इसके बाद भी अगर पुराने बस स्टैंड से इंदौर की सवारी बैठाई जा रही है तो कार्रवाई की जाएगी।

- धरम जामोद, सूबेदार ट्रैफिक

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस