मूंदी (नईदुनिया न्यूज)। नगर में मंगलवार को तीन लोगों की कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आने पर प्रशासन द्वारा तीन कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। तीनों कोरोना पाजिटिव मरीजों के मकानों पर कोविड संक्रमित होने के पर्चे चस्पा किए गए थे। इसके बावजूद कोविड पाजिटिव मरीज के परिवार की किराना दुकान से किराना सामग्री विक्रय की सूचना प्रशासन को मिली। इस पर स्थानीय प्रशासन तत्काल सक्रिय हुआ।

मुख्य नगर पालिका अधिकारी संजय गीते ने बताया कि वार्ड दो मे नवलखा चौक में कोविड पाजिटिव मरीज के मकान को बेरिकेडिंग कर माइक्रो कंटेनमेंट बनाया गया है। यहां किराना दुकान भी संचालित करने की सूचना वार्ड के रहवासियों से मिली थी। इस पर आकाश शर्मा, माखनलाल कानूगो, दुर्गेश कवरे तथा अन्य कर्मचारियों का दल बनाकर भेजा गया। यहां बेरिकेडिंग की गई है। किराना व्यापारी को सख्त हिदायत दी गई कि वे कोविड नियमों व निर्देशों का पालन करें। निर्देशों का उल्लंघन कर यदि किराना सामग्री विक्रय करते पाया गया तो एफआईआर की कार्रवाई की जाएगी। यहां किराना व्यापारी के स्वजन कोरोना पाजिटिव आए हैं।

कोरोना को मात देने वाले छतरपुर सिविल जज ने हारी जिंदगी की जंग

खंडवा। कोरोना को मात देने वाले छतरपुर के सिविल जज अंतर सिंह अलावा मंगलवार को अपनी जिंदगी की जंग हार गए। शाम को करीब 6 बजे उनकी मौत जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में उपचार के दौरान हो गई। वे जिले में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीमा अलावा के पति थे। छतरपुर में पदस्थ रहने के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए सिविल जज अंतर सिंह अलावा निवासी मनावर को पत्नी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीमा अलावा उपचार के लिए खंडवा ले आई थीं। यहां उनका कोरोना टेस्ट कराया गया। रिपोर्ट पाजिटिव आने पर उन्हें कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया। यहां करीब एक माह तक उनका उपचार किया गया। इस बीच कोरोना की फिर से जांच की गई। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर अस्पताल से छुट्टी कर दी गई थी। कुछ दिन ठीक रहने के बाद शुक्रवार को अचानक फिर से तबीयत खराब हो गई। सांस लेने में दिक्कत होने पर उन्हें कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया। शाम करीब छह बजे उनकी मौत हो गई। बताया जाता है कि परिवार के लोगों के आने पर कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए उनका अंतिम संस्कार खंडवा में ही राजा हरिशचंद्र मुक्तिधाम पर किया जाएगा।

जवाहरगंज वार्ड में

बाल विवाह रोका

खंडवा। जवाहरगंज वार्ड के चिड़िया मैदान क्षेत्र में हो रहे बाल विवाह को मंगलवार महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम ने रुकवाया। क्षेत्रीय आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और चाइल्ड लाइन को नाबालिग बालिका के बाल विवाह की सूचना मिली थी। महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम परियोजना अधिकारी पूजा राठौर, पर्यवेक्षक रेणूका यादव एवं वार्ड की सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौके पर पहुंचीं। बालिका का विवाह महाराष्ट्र के मुक्ताइनगर में कराया जा रहा था। बालिका के पिता नहीं थे। बालिका की माता को टीम द्वारा समझाइश दी गई। जांच के दौरान बालिका की स्कूल की अंकसूची देखी गई। इसमें उसकी आयु लगभग 15-16 वर्ष थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags