खंडवा/बोरगांव बुजुर्ग, नईदुनिया प्रतिनिधि। अपने एक माह के पुत्र के इलाज के लिए पिता ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर लूट की वारदात को अंजाम दिया। यह बात पकड़े जाने के बाद आरोपित पिता ने पुलिस को बताई है। आरोपितों ने शराब ठेकेदार के कर्मचारी से 10 हजार 450 रुपए, दो मोबाइल व आधार कार्ड लूट लिए थे। पुलिस ने गुरुवार को आरोपित पिता व उसके साथियों को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को आरोपितों को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लेगी।

ग्राम कुमठी के पास हुई लूट के मामले में बोरगांव चौकी प्रभारी राधेश्याम मालवीया ने गुरुवार को खुलासा किया। उन्होंने बताया कि मंगलवार को बोरगांव बुजुर्ग की शराब की दुकान में काम करने वाले अमरेश पिता बलेंदरसिंह निवासी ग्राम खोड़ बिहार और साथी कर्मचारी रवि पिता सकूडू निवासी बोरगांव बुजुर्ग के साथ ग्राम कुमठी के पास लूट हुई थी। बदमाशों ने दोनों की आंख में मिर्ची पाउडर डालकर 10 हजार 450 रुपए, दो मोबाइल और आधार कार्ड लूट लिया था। इस मामले में बोरगांव बुजुर्ग में रहने वाले आरोपित पप्पू उर्फ पपिया पिता जगदीश (25), रोहित पिता छन्नू भील (19) और नितेश पिता मोहन (22) और ग्राम बिहार के विष्णु पिता बलिराम (24) को गिरफ्तार किया गया है।

इस मामले में पप्पू मुख्य आरोपित है। पूछताछ करने पर पप्पू ने बताया कि उसका एक माह का बेटा वंश है। उसकी तबीयत खराब होने से उसे बुरहानपुर के अस्पताल में भर्ती किया गया है। इलाज के लिए रुपए की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। इसलिए उसने अपने दोस्त रोहित, नितेश और विष्णु के साथ मिलकर अमरेश और रवि को लूटने की योजना बनाई थी।

हमें पता था कि यह दोनों रोज डुल्हार फाटा पर स्थित दुकान से दिनभर बेची गई शराब के रुपए लेकर बोरगांव आते हैं। मंगलवार को जब यह दोनों रुपए लेकर आ रहे थे तो उन्हें लूट लिया। पुलिस द्वारा आरोपितों को शुक्रवार कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।