Khandwa News : खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नर्मदा घाटी के ऊपरी क्षेत्रों में हो रही बारिश और तवा तथा बरगी बांध के गेट खुलने से नर्मदा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। इसे देखते हुए इंदिरा सागर बांध के 12 और ओंकारेश्वर बांध के 18 गेटों से छोड़े जा रहे पानी की मात्रा बढ़ा दी गई है। इससे ओंकारेश्वर में नर्मदा के सभी घाट जलमग्न हो गए हैं। वहीं मोरटक्का में नर्मदा नदी खतरा के निशान के नजदीक पहुंचने से प्रशासन ने इंदौर-इच्छापुरा राजमार्ग से वाहनों की आवाजाही रात साढ़े आठ बजे से रोक दी है। रात में जलस्तर का आकलन कर सुरक्षा के मद्देनजर बुधवार को छोटे वाहनों को प्रतिबंधित किया जा सकता है। जिला प्रशासन और बांध प्रबंधन हर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। इस मानसून सत्र में पहली बार बाधों से 15 हजार क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है।

प्रशासन ने जारी किया अलर्ट - बांध प्रबंधन द्वारा लगातार उद्घोषणा केंद्र के माध्यम से हाई अलर्ट की चेतावनी दी जा रही है। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में नर्मदा नदी मोरटक्का के आसपास निचली बस्ती में भी पानी घुसने की आशंका में उसे खाली करवाया गया है। थाना प्रभारी बलराम सिंह राठौर, तहसीलदार उदय मंडलोई, सीएमओ मोनिका पारधी सहित अमला लगातार बांध प्रबंधन से संपर्क कर स्थिति का जायजा ले रहा है।

खंडवा जिले के मोरटक्का में नर्मदा नदी में उफान से पुल से वाहनों की आवाजाही बंद है।

पुल से रोकी वाहनों की आवाजाही

राष्ट्रीय राजमार्ग पर नर्मदा नदी पर बने पुल से वाहनों की आवाजाही शाम चार बजे से पूरी तरह प्रतिबंध कर दी गई है। मोरटक्का में नर्मदा का जलस्तर 162.5 मीटर हो गया है जबकि 163 मीटर पर खतरे का निशान है। इसे देखते हुए पुलिस प्रशासन द्वारा दोनों तरफ वाहनों को रोका जा रहा है। लोगों को नर्मदा किनारे से हटाने की प्रक्रिया लगातार जारी है। जानकार सूत्रों ने बताया कि रात्रि में और पानी की मात्रा बढ़ती है तो छोटे वाहनों को भी पुल पर आने जाने से रोक दिया जाएगा। वर्तमान क्षेत्र में लगातार वर्षा हो रही है। ओंकारेश्वर के सभी घाट पूरी तरह डूब गए हैं। इधर, नगर परिषद के उद्घोषणा केंद्र से चेतावनी दी जा रही है निरंतर नर्मदा नदी में जल बढ़ रहा है। श्रद्धालु ओंकारेश्वर बांध के गेटों से छोड़े जा रहे पानी और नर्मदा नदी के उफान को देखने के लिए घाटों और पुल पर बड़ी संख्या में जुट रहे हैं।

लगातार नजर रखे हैं - कलेक्टर अनूप कुमार सिंह के अनुसार, इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध से छोड़े जा रहे पानी से नर्मदा में उफान को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है। मोरटक्का में नर्मदा पुल से वाहनों की आवाजाही रोक दी है। नर्मदा के जलस्तर पर निरंतर नजर रखी जा रही है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close