खंडवा। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मंडी शुल्क बढ़ाए जाने पर व्यापारियों में आक्रोश देखा जा रहा है। सोमवार को क्रेता-विक्रेता संघ के बैनर तले मंडी के व्यापारियों ने सांकेतिक रूप से हड़ताल रख कर सरकार के इस निर्णय का विरोध जताया। हड़ताल के चलते सुबह 10:30 बजे से 12:30 बजे तक मंडी में नीलामी नहीं हुई। इस दौरान क्रेता विक्रेता संघ की ओर से मुख्यमंत्री के नाम मंडी उप सचिव शर्मिला मंडलोई को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में मुख्यमंत्री को संबोधित कर कहा गया है कि आपकी घोषणा से ही मंडी शुल्क की दर 50 पैसे प्रति सैकड़ा हो गई थी। आपने पूर्व में भी हमें आश्वस्त किया था कि यह अवधि 6 माह के लिए की जाएगी लेकिन इसे मात्र तीन माह के लिए ही लागू किया गया।

इसकी अवधि दिनांक 14 फरवरी 2021 को समाप्त हो गई हैं। हम यह मांग करते हैं कि मंडी शुल्क की दरों को 50 पैसे ही रखा जाए, क्योंकि कम मंडी शुल्क होने से किसानों को अधिक दाम प्राप्त हुए हैं और वर्तमान में भी होंगे। नई फसलें बाजार में आने का समय हो चुका हैं। इससे भी मंडी समिति को टैक्स में बढ़ोत्री ही मिलेगी। ऐसा आपको आवश्स्त करते हैं।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags