खंडवा। खंडवा शहर में ठंडी के दिनों में भी लोगों को जल संकट का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को जल संकट से त्रस्त महिलाओं ने नगर निगम के गेट पर धरना दे दिया। वृंदावन विहार कॉलोनी से आई महिलाओं ने कहा कि उन्हें दस दिन से पानी नहीं मिला है। पानी के लिए दूर-दूर तक भटकना पड़ रहा है। मौके पर पहुंचे इंजीनियर राधेश्याम उपाध्याय ने महिलाओं की समस्या सुनकर निराकरण का आश्वासन दिया। उन्होंने क्षेत्र में टैंकर भेजकर जलापूर्ति करने के लिए कहा लेकिन महिलाएं नहीं मानी। उनका कहना था कि जब तक पानी की समस्या का स्थाई समाधान नहीं होगा हम धरना समाप्त नहीं करेंगे। निगम के गेट पर महिलाओं द्वारा धरना दिए जाने के कारण यहां से अधिकारियों और कर्मचारियों का आवागमन बाधित होता रहा।

कॉलोनी वासियों ने यह भी आरोप लगाए कि कॉलोनाइजर द्वारा कॉलोनी में किसी भी तरह की सुविधाएं नहीं दी जा रही है। मूलभूत सुविधाओं की मांग करने पर कहा जाता है कि कॉलोनी नगर निगम को हस्तांतरित हो चुकी है। जबकि नगर निगम द्वारा कहा जाता है कि कॉलोनी अभी हस्तांतरित नहीं हुई है। ऐसे में समस्या के निराकरण को लेकर हम कहां जाएं। कॉलोनी में अब तक पास ही स्थित एक निजी ट्यूबेल से जलापूर्ति हो रही थी, लेकिन यह ट्यूबवेल भी दम तोड़ चुका है।

ऐसे में दस दिन से लोग पानी के लिए परेशान हो रहे हैं, पानी खरीदकर पीना पड़ रहा है। आक्रोशित महिलाएं निगमायुक्त हिमांशु भट्ट से चर्चा करने के लिए धरने पर बैठी रहीं। साथ ही कॉलोनाइजर को भी मौके पर बुलाए जाने की मांग करती रहीं। विदित हो कि शहर में जगह-जगह जल संकट की स्थिति बन रही है, हाल ही में मंगलवार को जनसुनवाई में भी चंपानगर क्षेत्र की महिलाएं जल संकट की समस्या लेकर पहुंची थीं।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags