Khandwa News: खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एक साल से फरार तीन हजार रुपये के इनामी दुष्कर्म के आरोपित युवक को नर्मदानगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वह मकर संक्राति पर्व पर तिल-गुड़ के लड्डू खाने अपने घर आया था। पुलिस ने उसे घर से दबोचा लिया। आरोप है कि 16 वर्षीय किशोरी के साथ उसने दुष्कर्म किया था। शादी का झांसा देकर वह उसे अपने साथ ले गया था। आरोपित युवक को जेल भेज दिया गया है। नर्मदानगर थाना अंतर्गत ग्राम नंदाना की घटना है। 12 नवंबर 2021 को 16 वर्षीय किशोरी अपनी 12 वर्षीय बहन के साथ खेत में काम करने गई थी। यहां उसी के गांव में रहने वाला 26 वर्षीय आरोपित परमानंद पुत्र पप्पू उर्फ भागीरथ किशोरी को अपने साथ ले गया था। किशोरी को ले जाने में नंदाना के अनिल पुत्र रायसिंह ने मदद की थी। 12 वर्षीय बालिका की शिकायत पर नर्मदानगर पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज किया था।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने परमानंद पर तीन हजार रुपये का इनाम रखा था। मामले की जांच कर रहे नर्मदानगर थाना प्रभारी जगदीश सिंधिया ने बताया कि कुछ दिन बाद किशेारी को दस्तायाब किया गया था। उसके बयान के आधार पर परमानंद पर दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर आरोपित की तलाश की गई। इस मामले में सहयोगी अनिल को सहआरोपित बनाया गया था। अनिल को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन परमानंद फरार था। वह सतवास के पास जंगल में रहने लगा था।

जब भी पुलिस उसकी तलाश में जाती वह जंगल का फायदा उठाकर बच निकलता लेकिन रविवार को मकर संक्राति पर्व मनाने वह घर आया था। इस बारे में सूचना मिलने पर नंदाना में उसके घर दबिश दी गई। उसे गिरफ्तार कर थाने लाया गया। पूछताछ के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। इस कार्रवाई में एएसआइ महेश श्रीवास्तव, प्रधान आरक्षक सुनिल, आरक्षक नन्हीलाल यादव, प्रभु, मयाराम जामले और कुलदीप चौहान की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close