खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पुलिस ने शहर में गुंडे और बदमाशों पर सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। देर रात से सुबह तक पुलिस ने सर्चिंग अभियान चलाकर आदतन बदमाशों के घर दबिश दी। चार घंटे की कार्रवाई में 31 से अधिक बदमाशों को पकड़ा है। इसमें एक जिलाबदर आरोपित सलमान है जो पुलिस के खौफ से बेखबर चैन की नींद सो रहा था लेकिन पुलिस ने अपनी नींद उड़ाने वाले इन बदमाशों की धरपकड़ की है। इस तरह की कार्रवाई के लिए तीन थानों की 15 टीमों ने दबिश देकर कार्रवाई की।

गुंडों को घर-घर जाकर पकड़ कर थाने लाने की कार्रवाई की जा रही है। खंडवा एसपी विवेक सिंह के निर्देश पर शनिवार रात करीब एक बजे पुलिस लाइन में अचानक पुलिसकर्मियों को बुलाया गया। यहां कोतवाली, मोघट और पदमनगर थाना क्षेत्र में गुंडे और आदतन बदमाशों पर कार्रवाई के लिए 15 टीम बनाई गई। एक थाने में पांच टीम बनाई गई थी। पुलिस द्वारा अलग-अलग इलाकों में सर्चिंग की गई और जो सूचीबध्द नामी बदमाश थे जो दिन भर फरार रहकर रात में अपने घर में आकर शरण लेते हैं, जिन्हें कई बार वारंट जारी किया गया है। इसके बावजूद वह थाने में नहीं आते हैं। खंडवा कोतवाली थाना टीआइ बलजीत सिंह विशेष दल-बल के साथ घासपुरा, इमलीपुरा, भगत सिंह चौक इलाके में पहुंचे और बदमाशों को पकड़ कर थाने लाए।

रविवार शाम को कोर्ट में इन बदमाशों को पेश किया गया। इसी तरह से मोघट थाना टीआइ ईश्वर सिंह चौहान और पदमनगर थाना प्रभारी राजू पाटिल ने अपने-अपने क्षेत्र में बदमाशों के मकानों पर दबिश दी। बड़ा अवार क्षेत्र में माता मंदिर के पास रहने वाला सलमान पुलिस के हाथ लगा। दरअसल, सलमान को कोतवाली पुलिस ने जिलाबादर किया था। खंडवा के अलावा आसपास के जिलों से दूर रहने के निर्देश थे लेकिन वह आराम से अपने घर मे सो रहा था। उसे गिरफ्तार कर थाने लाया गया। इसी तरह से सूरजकुंड क्षेत्र में हत्या के प्रयास में आरोपित युवक पकड़ा गया। सुबह चार बजे तक कार्रवाई जारी रही।

बदमाशों पर लगाम लगाने के लिए उठाया कदम

ईद, भगवान परशुराम जन्मोत्सव और अक्षय तृतीया पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आदतन बदमाश और असामाजिक तत्वों पर बाउंड ओवर की कार्रवाई की गई थी। दो हजार से अधिक बाउंड भरवाए गए थे। साथ ही प्रतिबंधात्मक धारा 151 में भी कार्रवाई की गई थी।

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर शहर के तीनों थाना क्षेत्रों में निगरानीशुदा बदमाश और फरारी स्थाई वारंटी के खिलाफ धरपकड़ के लिए एक अभियान चलाया गया। इसमें तीनों थाना क्षेत्रों में लगभग 15 टीमें गठित की गई। जो अलग-अलग क्षेत्रों में अपने प्रभारियों के साथ चिन्हित बदमाशों के घरों पर दबिश दी गई। मामलों में फरार आरोपित, जिलाबदर और स्थाई वारंटियों को इस अभियान में गिरफ्तार किया गया। -पूनमचंद्र यादव, सीएसपी

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local