पुनासा (नईदुनिया न्यूज)। अनुसूचित जनजाति के निहाल त आदिवासी समाज के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम सोलंकी के नेतृत्व में समाजजनों ने रविवार को कालसन माता मंदिर परिसर में धरना देकर मांधाता थाने में हुई किशन पुत्र जियालाल की मौत पर स्वजनों को न्याय दिलवाने की मांग की। इस आयोजन में समाज के वरिष्ठजनों ने संबोधित किया। इसके बाद निहाल समाजजन द्वारा रैली के रूप मे एसडीएम कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन एसडीएम चंदरसिंह सोलंकी को सौंपा। ज्ञापन में मुख्यमंत्री से दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई तथा मृतक किशन के पिता जियालाल को मुआवजा राशि के साथ 5 एकड़ कृषि योग्य भूमि दिए जाने की मांग की ।

विदित हो कि किशन निवासी भोगावां निपानी जिला खरगोन को आठ सितंबर को मांधाता पुलिस द्वारा दोपहिया वाहन चोरी के आरोप में उसके भाई पवन के साथ पूछताछ के लिए थाने लाया गया था। जहां किशन की मौत हो गई थी।

जाति प्रमाणपत्र में विसंगति

निहाल समाज के पदाधिकारियों ने मृतक किशन के परिवार को राहत देने के अलावा ज्ञापन में पुनासा तहसील में निहाल समाज के जाति प्रमाणपत्र में व्याप्त विसंगति को दूर करने की मांग की है। समाज के प्रदेशाध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों ने एसडीएम सोलंकी को इस विसंगति से अवगत करवाया। विदित हो कि निहाल समाज मध्यप्रदेश आरक्षण की अनुसूची में 27 वे नंबर पर दर्ज होकर अनुसूचित जनजाति में आरक्षित है। जबकि पुनासा तहसील में इसी निहाल समाज के अनेक लोग ऐसे है जिनके शासकीय दस्तावेजों में जाति अंकित करने के स्थान पर निहाल की जगह नहाल लिखा होने के कारण इन्हें अनुसूचित जनजाति नहीं मानते हुए पिछडे घोषित कर दिए गए। इसमें बडी बात यह कि इसी निहाल जाति के आपस में दो सगे रिश्तेदार शासकीय दस्तावेजों में अलग अलग वर्ग में बंटे हुए है। एक रिश्तेदार जिनके दस्तावेजों में निहाल शब्द अंकित है वह अनुसूचित जनजाति में माना गया तथा दूसरे व्यक्ति के दस्तावेजों में जाति के स्थान पर नहाल लिखा होने से उसे पिछडी जाति में माना गया। है और निमाड में निहाल समाज को आम बोलचाल में नहाल कहा जाता है।

प्रशासन रहा सतर्क

बाइक चोरी के आरोपित किशन की मृत्यु के बाद भड़के समाजजनों द्वारा ओंकारेश्वर में किए गए प्रदर्शन व आक्रोश को देखते हुए पुनासा में प्रशासन व पुलिस सतर्क व सजग रहीं ज्ञापन देने के दौरान किसी अप्रिय घटना से निपटने के लिए काफी संख्या में पुलिसबल व अर्धसैनिक बल की तैनाती की गई थी। पुनासा के प्रत्येक चौराहे व बायपास पर पुलिसबल वाहन के साथ मुस्तैद रहा। वहीं एसडीएम कार्यालय में अर्धसैनिक बल वज्र की तैनाती रही। एडिशन एसपी प्रकाश परिहार, एसडीओपी राकेश पेन्ड्रो, नर्मदानगर थाना प्रभारी ओपी सिंह, चौकी प्रभारी शुशा परते, गणपत चौहान व महिला पुलिस निरीक्षक व पुलिसकर्मियों के मोर्चा संभाल रखा था। वहीं राजस्व विभाग से एसडीएम सोलंकी,तहसीलदार सीमा मोर्य व राजस्व निरीक्षक हरेसिंह गौड मौजूद थे। कार्यक्रम मे प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम सोलंकी, जिला अध्यक्ष कैलाश निहाल , रणजीत कलमे, विपिन काजले, राहुल बघेल पुनासा ब्लांक अध्यक्ष राजेंद्र निहाल, नरेंद्र सोलंकी, सुनील मयले, सालकराम कचनारे, दीपक चौहान, रूपेश निहाल, खरगोन जिला अध्यक्ष सियाराम मुंदले और जयराम निहाल सहित अन्य समाज प्रमुख उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local