लीड खबर----

- विपणन संघ और नागरिक आपूर्ति निगम को एफसीआई के निर्देशों का इंतजार-

फोटो 12केएचए-38

खंडवा में नागचून तालाब के पास बने ओपन कैप में बारिश से बचाव के लिए प्लास्टिक से ढंककर भंडारित किया गया गेहूं। नईदुनिया

खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के निकट नागचून क्षेत्र में करीब 25 एकड़ में फैले ओपन कैप में करीब 23 हजार टन गेहूं रखा गया है। वहीं आदिवासी अंचल खालवा के सांवलीखेड़ा में लगभग 10 हजार टन गेहूं खुले कैप में भंडारित किया है। बारिश का मौसम और खुले में गेहूं का भंडारण जिला विपणन संघ के लिए चुनौती बन गया है। संघ द्वारा अपने स्तर पर चौकीदार तैनात कर इनकी सुरक्षा की जा रही है। यहां बिजली की पर्याप्त सुविधा नहीं होने से रात में चौकीदारों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। खंडवा के निकट नागचून में 25 एकड़ में फैले ओपन कैप में रखे गेहूं को लेकर यहां पत्थरबाजी की घटना भी हो चुकी है। विपणन संघ के अधिकारियों का कहना है कि इसकी पुलिस में शिकायत की है। अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

समर्थन मूल्य पर प्रदेश में गेहूं की बंपर खरीदी के बाद अब भंडारण चुनौती बन गया है। प्रदेशभर के भंडारगृह हाउसफुल हो जाने से विभिन्ना जिलों में बने ओपन कैप में गेहूं का खुले में भंडारण किया गया है। खंडवा जिले में बने दो ओपन कैप स्टोरेज में करीब 33 हजार टन गेहूं रखा है। विभिन्ना जिलों से भंडारण के लिए यहां लाते समय बारदान भीगने से कैप में भंडारित गेहूं खराब हो रहा है। बारिश थमने से अब सड़ांध मार रहे गेहूं की ग्रेडिंग की जा रही है। विपणन संघ को गेहूं के उठान के लिए एफसीआई के निर्देशों का इंतजार है।

इन जिलों का गेहूं हुआ भंडारित

खंडवा जिले में भंडारित गेहूं शाजापुर, उज्जैन, देवास, धार और इंदौर जिले की सहकारी समितियों द्वारा खरीदा गया है। अधिकांश गेहूं समर्थन मूल्य की खरीदी के लिए निर्धारित मापदंड के अनुरूप गुणवत्ता का नहीं (नॉन एफएक्यू) होने से विपणन संघ द्वारा संबंधित सोसायटियों को पत्र लिखकर आवश्यक कार्रवाई की गई है। इस उपज की नुकसानी की भरपाई संबंधित सोसायटी को करना होगा। खंडवा के कैप में 23 हजार 635 टन तथा खालवा के कैप में 9489 टन गेहूं रखा है।

एफसीआई के निर्देशों का इंतजार

जिले में खंडवा और खालवा के ओपन कैप में भंडारित अच्छी किस्म का गेहूं सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत गरीबों को बांटने के लिए नागरिक आपूर्ति निगम को आवंटित किया जाएगा। यह गेहूं किस प्रदेश को भेजा जाएगा इसका निर्णय फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) द्वारा किया जाएगा। इस संबंध में एफसीआई के अधिकारी गेहूं का निरीक्षण भी कर चुके हैं। जिला विपणन संघ और नागरिक आपूर्ति निगम को उनके निर्देशों का इंतजार है। खंडवा से यह गेहूं महाराष्ट्र के जलगांव जाने की चर्चा है।

नागरिक आपूर्ति निगम के प्रभारी प्रबंधक एके गीते ने बताया कि खंडवा जिले में भंडारित गेहूं एफसीआई को देना है। कैप से अच्छा माल देखकर ही उठाया जाएगा। जितना माल उठाएंगे उस हिसाब से विपणन संघ को भुगतान किया जाएगा। एफसीआई से गेहूं जहां भेजने का आदेश मिलेगा उस पर अमल किया जाएगा।

- जिले के ओपन कैप में भंडारित गेहूं को भीगने और चोरी से बचाने के लिए आवश्यक इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा के लिए भी चौकीदार तैनात कर अधिकारी भी समय-समय पर दौरा कर रहे हैं। यह गेहूं कहां भेजा जाएगा इसके लिए एफसीआई के निर्देशों का इंतजार है। - अमित तिवारी, जिला विपणन संघ अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan