- संक्रमित भाइयों को राखी बांधकर लेंगी मास्क के उपयोग का वचन

खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रक्षाबंधन का पर्व सोमवर को मनाया जाएगा। कोरोना के संक्रमित भाई-बहनों की राखी कोविड के यर सेंटर में ही मनेगी। यहां भर्ती भाइयों को बहनों द्वारा भेजी गई राखी वार्ड में तैनात सिस्टर बांधकर उनसे स्वस्थ होने के बाद मास्क का उपयोग करने का वचन लेंगी। कोरोना वार्ड में भर्ती करीब 75 मरीजों में कु छ ऐसे मरीज भी हैं, जो पहली बार अपनी सगी बहन के हाथों राखी नहीं बंधवा सकें गे।

कोरोना की वजह से लाइफ स्टाइल और कारोबार के साथ ही पर्व व त्योहार मनाने का तरीका भी बदल गया है। भाई और बहन के स्नेह के पर्व राखी पर इस बार कई भाइयों की कलाई सूनी रहेगी। वहीं कई बहनें अपने भाई को तिलक तक नहीं कर सकें गी। सबसे ज्यादा उलझन कोरोना संक्रमण की वजह से अस्पताल में भर्ती मरीजों की है। यहां भर्ती 75 मरीजों में अधिकांश भाई व बहन त्योहार नहीं मना पाने से मायूस हैं। इसे देखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने भर्ती भाइयों को उनकी बहनों द्वारा भेजी जाने वाली राखी वार्ड में तैनात सिस्टर से बंधवाने का निर्णय लिया है। ऐसे में मरीजों के उपचार की जिम्मेदारी निभा रही सिस्टर अब बहन के दायित्व का निर्वाहन भी करेंगी।

कोरोना वार्ड में मरीजों की खुशी का हमेशा ध्यान रखा जाता है। अपनों से दूर रहने या त्योहार नहीं मना पाने का उन्हें एहसास नहीं हो, इसके लिए वार्ड में राखी सेलिब्रेशन की व्यवस्था की है। जिन मरीजों को घर से राखी आएंगी उन्हें वार्ड की सिस्टर से बंधवाया जाएगा। इस दौरान भाई से कोरोना के प्रति लोगों को जागरुक करने और स्वयं की सुरक्षा के लिए मास्क का उपयोग आदि का वचन लिया जाएगा। -डॉ. अनंत पंवार, डीन मेडिकल कॉलेज खंडवा

बॉक्स

बहन के हाथों से 40 साल से बंधवा रहा हूं राखी

ट्रिपल सी वार्ड में भर्ती मरीज का कहना है पिछले 40 साल से वह हर साल अपनी बहन से राखी बंधवा रहा है। बहन के ससुराल में पहले नदी पर पुल नहीं होने से बारिश के दिनों में आवाजाही ठप हो जाती थी। एक बार तो नदी पूर पर होने पर तैरकर बहन के घर तक पहुंचा था, लेकि न इस वर्ष पॉजिटिव आने से बहन के हाथों राखी बंधवाने का सिलसिला टूट रहा है।

बहन से जुड़ेगा अटूट रिश्ता

कोरोना वार्ड में भर्ती शहर के एक मरीज का कहना है कि बसों का संचालन बंद होने से बहन भी ससुराल से नहीं आ सकी है। परंपरा का निर्वाह करते हुए राखी कोरियर से भिजवाई है, जो वार्ड में सिस्टर के हाथों बंधवाने की व्यवस्था अस्पताल प्रबंधन ने की है। यह स्वागत योग्य है। कोरोना की वजह से एक और बहन से अटूट रिश्ता जुड़ जाएगा। इस रिश्ते को बाद में भी निभाता रहूंगा। आज सिस्टर हमारे प्राणों की रक्षा कर रही हैं। भविष्य में हमेशा बहन की सुरक्षा का वचन निभाऊंगा।

जेल में नहीं मनेगी राखी

कोरोना महामारी की वजह से इस बार जेल की राखी पर भी ग्रहण लग गया है। जेल में राखी पर्व इस बार नहीं मनाया जाएगा। जिला जेल अधीक्षक प्रभात चतुर्वेदी ने बताया कारोना संक्रमण से बचाव को लेकर 31 अगस्त तक जेल में मुलाकात पर प्रतिबंध लगाया गया है। ऐसे में राखी पर्व पर छूट नहीं दी जा सकती। इससे संक्रमण का खतरा अधिक है। इसलिए इस बार जेल में राखी पर्व नहीं मनेगा। पोस्ट से आने वाली राखियां भी पूर्व में प्रतिबंधित कर दी हैं। बाहर से आने वाली हर एक वस्तु पर रोक लगा दी गई है। यह सब संक्रमण से बचाव के लिए कि या गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस