खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वामी विवेकानंद मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश अंतर्गत नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर बीएचएससी तथा बीएससी प्रथम वर्ष की छात्राओं के व्याख्यान ऑनलाइन गूगल मीट पर हुए। प्रोफेसर शशांक नाडकर्णी द्वारा स्कूली शिक्षा एवं उच्चतर शिक्षा तथा रिसर्च के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही विभिन्ना व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की जानकारी देकर आत्मनिर्भर बनाने व कौशल निर्माण की जानकारी दी गई।

इस अवसर पर डॉ. सीमा मंडलोई द्वारा 'भारत का भौगोलिक परिचय' और 'अच्छा कैरियर कैसे बनाएं' विषय पर व्याख्यान दिया। डॉ. मंडलोई ने कहा कि भारत का भूगोल विविधता पूर्ण है। उत्तर से दक्षिण और पूर्व से पश्चिम के क्षेत्रों की भौगोलिक भिन्नाता तो है लेकिन साथ में सांस्कृतिक विविधता भी है। इतनी विविधता होने के बावजूद हमारा देश एकता के सूत्र में बंधा है। 'अच्छा कैरियर कैसे बनाएं' इस विषय पर डॉ. मंडलोई ने छात्राओं को कैरियर संबंधी अनेक प्ररेणादायी जानकारी दी। स्वामी विवेकानंद मार्गदर्शन प्रकोष्ठ की प्रभारी डॉ. मोहिनी सकरगाए ने बताया कि इस सत्र में व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ और शिक्षक अभिभावक योजना को भी जोड़ दिया गया है।

डॉ. रीना मालवीय ने स्नातक स्तर पर तथा डॉ. नीलू अग्रवाल ने स्नातकोत्तर स्तर पर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर, डॉ. कुमुद दुबे ने 'विकासजन्य पर्यावरणीय समस्याएं और समाधान' विषय पर व्याख्यान दिए। योग तथा स्वास्थ्य, संविधान में उल्लेखित मौलिक कर्तव्य पर डॉ. संघमित्रा दुधे, डॉ. सुरेश मालवीय और प्रोफेसर देवमणि यादव ने व्याख्यान दिए। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. गीताली सेनगुप्ता ने बताया कि कैरियर और व्यक्तित्व विकास के लिए व्याख्यान ऑनलाइन गूगल मीट पर दिए जा रहे हैं, इससे छात्राएं लाभान्वित हो रही हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस