खंडवा/मूंदी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Madhya Pradesh News वैलेंटाइन डे पर ग्राम बोरानी के जंगल में एक प्रेमी युगल ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली। मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है। दोनों का अंतिम संस्कार शुक्रवार दोपहर मूंदी में एक ही चिता पर कर दिया गया।

मूंदी के निकट ग्राम बोरानी में रहने वाले अर्जुनसिंह पिता चैनसिंह (18) और होशंगाबाद जिले के ग्राम केसला की रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी ने प्रेम के इजहार के दिवस वैलेंटाइन डे पर जहर पीकर अपनी प्रेम कहानी का अंत कर दिया। दोनों एक ही समुदाय थे। लड़का प्लास्टिक फर्नीचर गांव-गांव बेचने का काम करता है।

बताया जाता है कि लड़के का इटारसी और होशंगाबाद आना-जाना था। बताया जाता है कि इस दौरान केसला की रहने वाली नाबालिग से दोस्ती हो गई थी जो बाद में परवान चढ़कर चाहत तक पहुंच गई। बताया जाता है कि दस दिनों से अर्जुन गांव में ही था। गुरुवार शाम सात बजे से वह घर से लापता था। शुक्रवार सुबह होशंगाबाद निवासी किशोरी के साथ उसका शव जंगल के निकट पेमा टाकिया के खेत में बने गड्ढे में मिला।

जहर गटकते ही बड़े भाई को फोन पर दी सूचना

शुक्रवार सुबह पांच बजे अर्जुनसिंह ने अपने बड़े भाई दशरथ को मोबाइल पर सूचना दी कि मैंने कामिनी (परिवर्तित नाम) के साथ पेमा टाकिया के खेत में जहर पी लिया है। हम एक साथ जान दे रहे हैं। दशरथ प्लास्टिक फर्नीचर बेचने के लिए गुना शहर में था। उसने तत्काल बोरानी अपने परिजनों सूचना दी। परिजनों ने जंगल के बताए खेत में पहुंच कर खोजबीन की तो गड्ढे में प्रेमी युगल मृत मिले।

शव के पास कीटनाशक दवा की बॉटल रखी हुई थी। सूचना किशोरी के परिजनों और 100 डायल को दी गई। इस पर मूंदी टीआई अंतिम पंवार तथा एएसआई चैतनाथ परिहार मौके पर पहुंचे। मामला संदिग्ध मौत का होने से फोरेसिंक एक्सपर्ट एसएस मुजाल्दे ने टीम के साथ सुबह 10 बजे मौके पर पहुंच कर जांच की। बाद में दोनों के शव को पुलिस ने मूंदी अस्पताल पहुंचा दिया। यहां डॉक्टरों की पैनल ने शव परीक्षण किया।

एक साथ हुए जुदा

जीवन भर साथ निभाने का वादा किन्हीं कारणों से पूरा नहीं होता देख दोनों ने एक साथ मरने का निर्णय ले लिया। इसके लिए उन्होंने वैलेंटाइन डे का दिन चुना। दोनों परिवार वालों द्वारा इनकी भावनाओं का सम्मान कर अंतिम संस्कार मूंदी के मुक्तिधाम में शाम पांच बजे एक ही चिता पर कर दिया गया।

दोनों परिवारों ने जताई प्रेम प्रसंग पर अनभिज्ञता

किशोरी के परिजनों का कहना है कि रोज की तरह गुरुवार को प्लास्टिक फर्नीचर बेचने के लिए उनकी लड़की गई थी। शाम तक घर नहीं लौटी तो उसकी तलाश कर रहे थे। शुक्रवार सुबह जहर पीने से मौत की खबर मिली। खबर मिलते ही माता-पिता व परिजन दोपहर में मूंदी आ गए। हमें प्रेम प्रसंग के बार में कुछ पता नहीं है ना ही उसने कभी शादी की बात की। वहीं अर्जुन के परिजन भी अनभिज्ञता जता रहे है। अर्जुन के जहर गटकने के बाद भाई दशरथ को मोबाइल पर सूचना करने पर जानकारी मिली।

गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

पुलिस मामला संदिग्ध मौत का होने तथा शवों के पास से कोई लेटर बरामद नहीं होने से गंभीरता से जांच कर रही है। किशोरी होशंगाबाद से बोरानी तक कैसी पहुंची, जान देने के लिए कीटनाशक दवा कहां से लाए। ऐसे कई सवाल हैं जिनकी तह तक जाने ओर मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

हर पहलू की होगी जांच

मूंदी टीआई अंतिम पंवार ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला प्रेमप्रसंग में आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। एफएसएल टीम से जांच कराई गई है। मौके पर कीटनाशक दवा की बॉटल और दोनों के मोबाइल पुलिस ने जब्त किए हैं। मामले में मर्ग कायम कर हर एंगल पर विवेचना की जा रही है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket