सिहाड़ा/खंडवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिला मुख्यालय से महज सात किलोमीटर दूर ग्राम सिहाड़ा के प्रायमरी स्कूल में एक कमरे में तीन कक्षाएं लग रही हैं। पहली, दूसरी और चौथी के बच्चे एक कमरे में बैठ रहे हैं, वहीं तीसरी और पांचवी कक्षा भी एक साथ लग रही हैं। स्कूल की एक शिक्षिका को हायर सेकंडरी स्कूल में अटैच कर दिया गया है, इसे लेकर स्कूल में शिक्षिकाओं की जानकारी के बोर्ड पर लिख दिया गया है कि शिक्षिका हायरसेकंडरी स्कूल में अटैच है। सिहाड़ा के प्रायमरी स्कूल में करीब 140 विद्यार्थी हैं। यहां प्रधान पाठक सहित पांच शिक्षिकाएं पदस्थ हैं। इनमें से एक शिक्षिका मीनाक्षी भावसार को सिहाड़ा के हायर सेकंडरी स्कूल में अटैच कर दिया है। ऐसे में एक कमरे में दो से तीन कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है।

प्रायमरी स्कूल की किसी शिक्षिका के अवकाश होने पर दिक्कत और बढ़ जाती है। मंगलवार को यहां स्कूल के एक कमरे में पहली, दूसरी और चौथी कक्षा के विद्यार्थी बैठे हुए थे, वहीं तीसरी और पांचवी के विद्यार्थियों को एकसाथ बैठाया गया था। कक्षाओं में कुछ बच्चे बेंच पर बैठे थे तो कुछ नीचे बैठकर पढ़ रहे थे।

पालक हो रहे परेशान

सिहाड़ा स्कूल में अध्ययनरत विद्यार्थी की मां वंदना चौहान ने कहा कि हमने प्रायवेट स्कूल से निकालकर बच्चे को सरकारी स्कूल में प्रवेशित कराया, हमें उम्मीद थी कि यहां अच्छी पढ़ाई होगी लेकिन यहां तो एक ही कमरे में दो से तीन कक्षाएं लगती हैं। स्कूल की प्रधान पाठक और संकुल प्राचार्य से भी शिकायत की है कि स्कूल में पर्याप्त शिक्षक होना चाहिए लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती।

पर्याप्त है स्टाफ

शैक्षणिक कार्यों के लिए शिक्षिका को अटैच किया गया है। सिहाड़ा के प्रायमरी स्कूल में स्टाफ पर्याप्त है। इसके बावजूद एक कमरे में तीन कक्षाएं क्यों लगा रहे हैं। पता करता हूं, यहां जल्द व्यवस्थाएं सुधारी जाएंगी। - दीपक ओझा, संकुल प्राचार्य

मांगेंगे रिपोर्ट

सिहाड़ा के प्रायमरी स्कूल से शिक्षिका को दूसरे स्कूल में क्यों अटैच किया गया है इसकी रिपोर्ट मांगेंगे। एक कमरे में तीन कक्षाएं क्यों संचालित की जा रही हैं, इसकी जानकारी भी लेता हूं। विद्यार्थियों के हित में कार्रवाई की जाएगी। - जेएल रघुवंशी, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network