पुनासा, नईदुनिया न्यूज। ग्राम इंधावड़ी के अर्धविक्षिप्त युवक राजू पिता लक्ष्मण पाकिस्तान में होने की आशंका में उसके परिजन परेशान हैं। मां बसंताबाई की तबीयत बिगड़ने से उसे बुधवार को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। राजू की मां बसंताबाई का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है। बेटे की सकुशल वापसी के लिए वह हर आने-जाने वाले से रोते हुए गुहार लगा रही है।

बेटे के वियोग में रोने के कारण उनकी तबीयत बिगड़ने और कमजोर नजर आने पर मंगलवार को आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल ने बसंताबाई को उपचार के लिए बीएमओ के वाहन से पुनासा अस्पताल भिजवाया था। प्राथमिक उपचार के बाद यहां से छुट्टी दे दी गई थी।

रात में बसंताबाई की तबीयत ज्यादा खराब होने पर पुत्र दिलीप की सूचना पर ग्राम रिछफल निवासी कांग्रेस जिला प्रवक्ता नारायणसिंह तोमर ने अपने वाहन से बसंताबाई को मूंदी अस्पताल पहुंचाया। रक्तचाप अधिक होने से चिकित्सक ने प्रारंभिक उपचार के बाद जिला अस्पताल खंडवा रैफर कर दिया।

बसंताबाई के दिव्यांग बेटे दिलीप का कहना है कि पिछले तीन दिनों से जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और अन्य कोई अधिकारी गुमशुदा भाई राजू की चर्चा के लिए उनके घर नहीं आया है। गरीबी और बेटे के वियोग में मां की तबीयत बिगड़ रही है। भाई की वापसी के लिए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री सभी से गुहार कर चुके हैं।