खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में हाईटेक तरीके से नकल करते हुए पकड़े गए तीन मुन्नाा भाइयों को शुक्रवार न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी मोहन डावर ने एक-एक साल की सजा सुनाई है। दोषी तीनों युवक हरियाणा के रहने वाले हैं। तीनों पर दो-दो हजार रुपये जुर्माना लगाया गया। मामले की पैरवी सहायक लोक अभियोजन अधिकारी मोहम्मद जाहिद खान और भूरालाल वास्कले ने की।

मीडिया सेल प्रभारी मोहम्मद जाहिद खान ने बताया कि मामला दो नवंबर 2014 का है। मोतीलाल शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खंडवा के परीक्षा केंद्र में कर्मचारी चयन आयोग मध्यप्रदेश क्षेत्र रायपुर (छत्तीसगढ़) परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा के दौरान शिक्षकों द्वारा टिकट क्रमांक 6000103 रोल नंबर 6009600051 के विद्यार्थी विजय कुमार देवप्रकाश निवासी ग्राम भुगारका तहसील नारमोल थाना नागल चौधरी जिला महेन्द्रगढ़ हरियाणा को हाइटेक तरीके से मोबाइल फोन और ईयरफोन से नकल करते हुए पकड़ा गया था। विजय मोबाइल फोन और ईयरफोन शर्ट में सिलकर लाया था। इसी हाल में टिकट नंबर 600905351 का विद्यार्थी जितेन्द्र पुत्र कुलवीर निवासी ग्राम साखौल थाना व तहसील बाहदरगढ़ जिला झज्जर हरियाणा भी मोबाइल फोन व इयरफोन शर्ट में रखकर नकल कर रहा था। विजय और जितेंद्र दोनों ही नकल करते पकड़े गए थे। इसी तरह से टिकट क्रमांक 6000107 रोल नंबर 6009005251 परीक्षार्थी रोहित पुत्र दिनेश ग्राम रोहिणी थाना व तहसील खरखौंदा जिला सोनीपत हरियाणा से ईयरफोन व चिप से नकल करते हुए पकड़ा गया था। आरोपितों से नकल करने में उपयोग की गई हाईटेक सामग्री जब्त की गई थी। इस मामले में केंद्राध्यक्ष मोतीलाल नेहरू स्कूल के प्राचार्य जगदीश खोड़े की शिकायत पर मोघट थाने में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local