Khandwa News: ओंकारेश्वर (नईदुनिया न्यूज)। ओंकार पर्वत पर तोड़फोड़ और वहां से लोगों के मकान हटाने के विरोध में आंदोलन जारी है। मंगलवार को विरोध स्वरूप तीर्थनगरी में प्रभावितों ने रैली निकाल कर राज्यपाल के नाम ज्ञापन प्रशासन को सौंपा है। इधर, जिला मुख्यालय पर भी ओंकार पर्वत का अस्तित्व बचाने की मांग को लेकर दूसरे दिन भी भारत हितरक्षा अभियान के सदस्यों व प्रभावितों द्वारा धरना दिया गया।

आदिगुरु शंकराचार्य की प्रतिमा स्थापना के लिए ओंकार पर्वत पर चल रहे निर्माण कार्य से ओंकार पर्वत के मूल स्वरूप को नष्ट किए जाने के आरोप लग रहे हैं। इसे लेकर कुछ संगठन और स्थानीय प्रभावित लोगों द्वारा परिक्रमा मार्ग पर तोड़फोड़ तथा पर्वत पर सदियों से निवास कर रहे आदिवासी व अन्य परिवार के मकान दुकानों को बेदखल नहीं करने की मांग की जा रही है। हाल ही अतिक्रमण हटाने के दौरान की गई तोड़फोड़ में जो हुई क्षति हुई है उसका मुआवजा देकर विस्थापन की मांग भी प्रभावित कर रहे है।

आंदोलनकारियों का कहना है कि ओंकार पर्वत के मूल स्वरूप को नष्ट किया जा रहा है। शंकराचार्य की मूर्ति स्थापना का स्थान परिवर्तन की मांग को लेकर 20 दिनों से पर्वत पर चल रहे आंदोलन के बाद नाविक संघ, आदिवासी संगठन, व्यापारी संगठन, भाजपा व कांग्रेस के पदाधिकारियों ने बड़ी संख्या में ओंकार पर्वत से विशाल रैली निकालते हुए थाना मांधाता पहुंचकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन एसडीएम सीएस सोलंकी को सौंपकर विरोध दर्ज करवाया है। भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष पवन खंडेलवाल ने ज्ञापन का वाचन किया।

इस अवसर पर नगर परिषद अध्यक्ष अंतर सिंह बारे ,राजा राव पुष्पेंद्र सिंह, नाविक संघ अध्यक्ष भोलाराम केवट, नगर कांग्रेस अध्यक्ष गोपाल खंडेलवाल, विधायक प्रतिनिधि अजय भाटिया, अधिवक्ता मनीष पुरोहित के अलावा बड़ी संख्या में ओंकार पर्वत पर निवास करने वाले महिला -पुरुष व अनेक संगठन के पदाधिकारी रैली के रूप में थाना मांधाता पहुंचे। विधायक प्रतिनिधि अजय भाटिया ने कहा कि ओंकार पर्वत पर शंकराचार्य जी प्रतिमा का विरोध नहीं है। लेकिन पर्वत पर तोडफोड व पेड़ों की कटाई के साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार व विस्थापन का विरोध है। पुनासा एसडीएम चंद्र सिंह सोलंकी ने कहां की ओकारेश्वर के रहवासियों द्वारा थाना मांधाता पहुंच कर ज्ञापन सौंपा गया है, जो वरिष्ठ अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई व मार्गदर्शन के लिए भेज दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close