Road Safety Campaign Khandwa: खंडवा। वाहन चलाते समय जरा सी असावधानी के कारण प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में लोग सड़क हादसे में जान गंवा देते हैं। ऐसे लोगों के परिवारों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। इसे रोकने के लिए यातायात के प्रति समझ और सुरक्षित यातायात के लिए जागरूक जरूरी है। दुर्घटनाओं की प्रमुख वजह सड़कों की दयनीय स्थिति के साथ-साथ ट्रैफिक नियमों की जानकारी का अभाव भी है। इन हादसों की वजह से परिवार ही नहीं देश की अर्थ व्यवस्था को भी नुकसान होता है। यदि यातायात नियमों का सही प्रकार से पालन किया जाए तो बड़ी जनहानि से बचा जा सकता है।

मुख्य मार्गों से लेकर गली-चौराहों पर गलत दिशा में वाहन चलाने से अधिकांश दुर्घटनाएं होती हैं। इसकी मुख्य वजह यातायात नियमों के प्रति जागरूकता का अभाव है। नाबालिग भी धड़ल्ले से वाहन चलाते नजर आते हैं, जबकि इस उम्र में वाहन चलाने की पात्रता नहीं है। इसके लिए सबसे पहले अभिभावकों को जागरूक करने की जरूरत है। ज्यादातर यह भी देखा गया है कि दुर्घटनाएं गलत दिशा से गाड़ी चलाने से भी होती हैं।

इन सभी नियमों के लिए जागरूकता जरूरी है। यातायात के नियमों का पालन अधिकांश वाहन चालक केवल पुलिस की कार्रवाई से बचने की मानसिकता की वजह से करते हैं। इसमें बदलाव के लिए यातायात विषय को प्राथमिक शिक्षा के पाठयक्रम में शामिल किया जाना चाहिए। देश में वाहन लायसेंस जारी करने से पहले यातायात के व्यवहारिक ज्ञान के साथ ही वाहन चला कर अपनी काबिलियत साबित करने का प्रावधान है लेकिन इसके बगैर भी लायसेंस धड़ल्ले से जारी हो रहे है। जो दुर्घटनाओं की मुख्य वजह है।

न ट्रैफिक लाइट के प्रति जागरूकता जरूरी है। ट्रैफिक सिग्नल का पालन लोग अपने शान के खिलाफ समझते हैं। यलो लाइट में तेजी से गाड़ी निकालने से दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है। यलो लाइट बंद होने दूसरी ओर की ग्रीन लाइट जलने से पहले ही दोनों तरफ का यातायात चालू हो जाता है।

ट्रैफिक लाइट के लिए के प्रति लोगों में समझ व धैर्य जरूरी होना चाहिए।

यातायात नियमों में सबसे पहले लाइसेंस के प्रति जागरूकता होनी चाहिए। सड़क पर यातायात से संबंधित संकेत और नियमों के प्रति सजगता होना चाहिए। इसमें लापरवाही स्वयं के साथ ही दूसरों की जान के लिए भी खतरनाक साबित होती है।

- कई वाहनों में नंबर प्लेट अपना रूतबा दिखाने या नुमाइश के लिए उपयोग की जाती है। यह साधारण और नियमों के अनुरूप होना चाहिए। वाहन चालकों में इसे लेकर नंबर प्लेट फैंसी होती है। जबकि नियमानुसार फैंसी नंबर प्लेट नहीं होनी चाहिए। नंबर प्लेट साधारण होनी चाहिए।

- किसी विषय पर चर्चा और प्रचार-प्रसार से जनता में जागरूकता बढ़ती है। यातायात जागरूकता अभियान से यातायात नियमों में सुधार होगा और लोग जागरूक होंगे। पुलिस द्वारा समय-समय पर यातायात पखवाड़ा और विशेष अभियान चलाएं जाते है। जो केवल चालानी कार्रवाई तक ही सिमट कर रह जाते हैं। जमीनी स्तर पर इनका कोई विशेष लाभ नहीं होता है।

लाइसेंस के लिए नहीं हो रहा ट्रायलः खंडवा में वाहन चलाने का प्रशिक्षण लेने के लिए चार ट्रेनिंग स्कूल संचालित है। लायसेंस के लिए ट्रेनिंग सेंटर के सर्टिफिकेट की अनिवार्यता के चलते प्रशिक्षण केवल औपचारिकता तक सिमटा हुआ है। वहीं परिवहन कार्यालय में भी लाइसेंस जारी करने की पूर्व वाहन चलाने की किसी प्रकार की प्रभावी ट्रायल नहीं ली जाती है। आरटीओ दलाल की मदद से लोगों को घर बैठे लायसेंस प्राप्त हो जाता है। यातायात नियमों के प्रति भी आम लोगों की जागरूकता के लिए पुलिस द्वारा समय-समय पर अभियान चलाकर औपचारिकताएं पूरी कर ली जाती हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close