Road Safety Campaign Khandwa: खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बगैर लाइसेंस के वाहन चलाना गैर कानूनी होता है। जब तक 18 वर्ष की उम्र न हो जाए व लाइसेंस न बन जाए तब तक वाहन न चलाएं। आप अगर किसी गांव से स्कूल आ रहे हैं तो स्वजनों को कहें स्कूल छोड़ दें या फिर स्कूल बस या पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करें। बगैर लाइसेंस के वाहन चलाने व कोई घटना-दुर्घटना होने पर खुद सहित स्वजन भी परेशान होंगे। नेशनल मोटर व्हीकल एक्ट में एक नया प्रविधान आया है। इसके अनुसार अगर किसी नाबालिग से कोई दुर्घटना होती है तो उसके बदले माता-पिता को जेल हो सकती है। इसके साथ ही 25 हजार रुपये तक जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। वहीं क्लेम लगाने पर भी व्यक्ति क्षतिपूर्ति का दावा कर सकता है। यह बात मूंदी रोड स्थित मार ग्रिगोरिज मेमोरियल (एमजीएम) स्कूल में नईदुनिया यातायात जागरूकता कार्यक्रम के तहत लायंस क्लब के राजीव शर्मा ने विद्यार्थियों से कही।

लायंस क्लब अध्यक्ष अखिलेश गुप्ता ने बताया सभी को नियमों की जानकारी होती है लेकिन वाहन चलाते समय इसका पालन करना भूल जाते हैं। किशोर अवस्था में कुछ बच्चे तेज गति से वाहन चलाते हैं। इसके साथ ही ओवर टेक करना, स्टंट करना जैसी भूल भी करते हैं। आप सभी बच्चे बगैर लाइसेंस के वाहन न चलाएं। अगर कोई दोस्त बगैर लाइसेंस के वाहन चलाता है तो उसे भी मना करें। नारायण बाहेती ने बताया फिल्मों में जो बताते हैं वह सही नहीं होता है। उनके स्टंट पूरे सुरक्षा मानकों के साथ किए जाते हैं। यही नहीं वे बहुत ही धीमी गति से होते हैं जिसे बाद में कैमरे की सहायता से अधिक तेज दिखाया जाता है। इसलिए बच्चे उससे प्रभावित न हो। राजीव मालवीय ने बताया सभी को नियमों की जानकारी आवश्यक है। इसके साथ ही स्वजनों को भी यह जानकारी उपलब्ध कराएं। कार्यक्रम के दौरान संस्था संचालक माथुकुटी एमएस व सोसम्या मैथ्यू ने अतिथियों का स्वागत किया। आभार प्राचार्य वीएस सातले ने माना। इस दौरान लिट्टी मैथ्यू, जोबिन जोसफ, उमेश पिपलोनिया, मधुबाला शेलार व अन्य सदस्यों ने संबोधित किया।

वाहन पार्किंग का रखें विशेष ध्यान

वाहन चालक को अपने वाहन को पार्किंग के लिए निर्धारित जगह पर ही लगाना चाहिए। इससे वाहन सुरक्षित रहेगा बल्कि अन्य वाहन चालकों और राहगीरों को भी असुविधा होगी। इसके साथ ही यहां-वहां खड़े वाहनों से जाम की समस्या भी बनती है।

निर्धारित साइड में चलाएं वाहन

वाहन हमेशा निर्धारित साइड में ही वाहन चलाना चाहिए। ऐसे करने से दुर्घटना से बचने सहित यातायात के संचालन में भी आसानी रहती है। जल्द के चक्कर में अगर रांग साइड चलते हैं तो इससे दुर्घटना का भय बना रहता है। है।

बगैर देखे न करें ओवरटेक

जल्दबाजी में कई लोग गलत तरीके से ओवरटेक करते हैं। इससे दुर्घटना होने की सम्भावना कई गुना बढ़ जाती है। हार्न बजाकर या साइड मिलने पर व अन्य वाहन के न होने पर ही ओवरटेक करें।

नो एंट्री का रखें ध्यान

रोड निर्माण, रोड मरम्मत, नाली-निर्माण, पाइप लाइन बिछाना या अन्य कार्य के कारण सड़क पर नो एंट्री का बोर्ड लगा रहता है। ऐसी जगहों पर संबंधित विभाग द्वारा बोर्ड लगा दिया है। कई लोग इन चेतावनी के बाद भी वाहन ले जाते हैं।

सीट बेल्ट या हेलमेट लगाएं

वाहन चलाते समय सीट बेल्ट या हेलमेट पहनने जरूरी है। इस चेतावनी के बावजूद भी लोग इन नियमों का पालन नहीं करते। सीट बेल्ट और हेलमेट वाहन चलाते समय महत्वपूर्ण सुरक्षा उपकरण है। यह दुर्घटना में सिर की चोट की संभावना को कई गुना कम कर देते है।

सिर्फ जरूरी होने पर ही बजाय हार्न

कई लोग वाहन चलाते समय अनावश्यक रूप से हार्न बजाते हैं। इससे दूसरे वाहन चालकों का ध्यान भंग होता है। वाहन दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है।

गति पर रखें नियंत्रण

निर्धारित सीमा से अधिक गति में वाहन चलाना सड़क दुर्घटना का प्रमुख कारण है। गति सीमा से संबंधित साइन बोर्ड सभी जगहों पर देखने को मिल जाएंगे। ऐसे में जरुरी है की हम अपनी वाहन गति हमेशा निर्धारित सीमा में ही रखें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close