Road Safety Campaign Khandwa: खंडवा (अश्विन बक्शी)। वाहन से होने वाले हादसों से बचने के लिए हर समय सावधानी रखना जरूरी है। आज किशोर अवस्था में ही पालक बच्चों को वाहन चलाने की अनुमति देते हैं। जब आप पहली बार वाहन चलाते हैं तो उससे पहले नियमों की जानकारी जरूरी है। खासकर किसी भी मोड़ पर बगैर वाहन का एंडिकेटर या हाथ दिए मुड़ते हुए मैंने कई बार देखा है। जिस पर समझाइश उसी समय देता हूं। ताकि हर किसी का जीवन सुरक्षित रह सके। आप अगर अपने स्वजनों को भी अधिक गति, रांग साइड वाहन चलाते देखें तो उसी समय टोकें। वह आपकी बात हमेशा याद रखेंगे। वहीं आप सभी भी 18 वर्ष के पूर्ण होने पर लाइंसेंस लेकर ही धीमी व सुरक्षित गति से वाहन चलाए। यह बात पदम नगर हाई स्कूल में यातायात जागरूकता कार्यक्रम के दौरान लायंस क्लब के राजीव मालवीय ने बच्चों से कही।

उन्होंने बताया सड़क पार करते समय भी नियमों का पालन करें। कहीं से भी सड़क पार न करें। जो संकेतक हैं जैसे जेबरा लाइन आदि की जानकारी जरूरी है। कभी भी दौड़कर सड़क अचानक पार न करें। पूरे नियमों का पालन करें। सड़क के डिवाइडर अगर बंद हैं तो वहां से सड़क पार न करें। स्कूल बस, आटो में भी जाएं व ड्राइवर गलत तरीके से बस चलाएं तो टोके जरूर। हम सतर्क रहेंगे तो दुर्घटना से बचा जा सकता है। स्कूली छात्र-छात्राओं से समाजसेवी राजीव शर्मा ने नियमों की जानकारी ली। इसके साथ ही उन्हें बताया कि तेजी से कभी भी वाहन च चलाएं। वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करें। कभी भी अधिक आत्मविश्वास में वाहन न चलाएं। नियमों का पालन करना बेहद ही जरूरी है।

गति पर नियंत्रण बेहद जरूरी

समाज सेवी नारायण बाहेती ने बताया अधिकांश दुर्घटनाएं तेज गति के कारण होती है। आप अगर संभलकर चल रहे हैं तो कोई सामने से आकर भी टकरा सकता है। इसलिए सड़क पर आंख, कान, दिमाग सभी का उपयोग करें। हमें यातायात नियमों की जानकारी होना आवश्यक है। 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद लाइसेंस बनने के बाद भी धीमी गति से ही वाहन चलाना चाहिए। आज के समय में वाहन चलाना सभी की आवश्यकता है। लेकिन इसके नियमों की जानकारी बेहद जरूरी है। अगर आप वाहन नहीं चलाते हैं व कोई स्वजन या दोस्त तेज गति से अनियंत्रित वाहन चलाए या नियमों की अनदेखी करें तो उसी समय टोक देना जरूरी है। हमेशा सीधे हाथ से देखकर ही ओवर टेक करें। अगर जगह न हो तो ऐसा कभी न करें। हेलमेट जरूर लगाएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close