Road Safety Campaign Khandwa: अश्विन बक्शी, खंडवा। यातायात नियमों की जानकारी सभी को होना जरूरी है। हमारे जमाने में साइकिल भी बड़ी मुश्किल से मिलती थी, लेकिन अब हर बच्चा स्कूल बस या आटो छोड़ खुद के दो पहिया वाहन से आने की इच्छा रखता है। सड़क पर वाहनों की संख्या पहले की तुलना में कहीं अधिक बढ़ चुकी है। ऐसे में जब भी आप वाहन चलाना सीखे, उससे पहले नियमों की जानकारी अवश्य लें। किसी भी वाहन को चलाने के लिए 18 वर्ष की आयु पूर्ण करना जरूरी है। इसके बाद लाइसेंस भी उतना ही जरूरी है। अगर यह दोनों योग्यता नहीं है तो फिलहाल वाहन न चलाएं। लाइसेंस लेने के बाद भी धीमी गति से वाहन चलाएं। इससे सुरक्षित यात्रा की जा सकती है।

यह बात नईदुनिया यातायात जागरूकता अभियान के दौरान शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में लायंस क्लब अध्यक्ष अखिलेश गुप्ता ने कही। उन्होंने छात्र-छात्राओं को नियमों सहित यातायात संकेतकों की जानकारी भी दी। अखिलेश गुप्ता ने कहा कि आप बाहर गांव से भी आते हैं ऐसे में जल्दबाजी की संभावना रहती है। आप यातायात नियमों की जानकारी रखते हैं यह अच्छी बात है। अगर आपके घर में स्वजन बगैर हेलमेट के वाहन चलाते हैं या अधिक गति से वाहन चलाते हैं, मोबाइल पर बात करते हुए वाहन चलाते हैं तो उन्हें इस बात के लिए टोकें ताकि उनका जीवन भी सुरक्षित हो सके। किशोर अवस्था में वाहन न चलाएं क्योंकि ऐसे में अगर कोई घटना-दुर्घटना होती है तो खुद को चोट लगने के साथ ही दूसरे व्यक्ति को भी चोट लग सकती है।

अगर वह पुलिस केस कर दे तो स्वजन परेशान होंगे। एक बात का विशेष ध्यान रखें कि तीन सवारी बैठाकर कभी भी दो पहिया वाहन न चलाएं। यातायात की जानकारी देते समय शिक्षक संदीप जोशी ने बताया-यातायात को लेकर यह बेहद ही अच्छा अभियान चलाया जा रहा है। नियमों की जानकारी सभी को होना आवश्यक है। कई बच्चे तेज गति से हार्न बजाते हुए रांग साइड से वाहन निकालते हैं। यह स्थिति बेहद ही खतरनाक हो सकती है। इसलिए इससे बचें। घर व स्कूल में अगर कोई समझाइश दी जाती है तो वह आपके भले के लिए होती है। इसलिए इसका पालन करें। जीवन में अनुशासन बेहद ही जरूरी है क्योंकि इससे ही सफलता मिलती है। इस दौरान वीणा अठोत्रा, राजन बहल, नेत्र सहायक नरेंद्र लाड़, मयंक पटेल, श्रेया मालवीय, राजीव जोशी व स्कूल स्टाफ मौजूद था।

परिसर में वाहन से आने पर है प्रतिबंध

प्राचार्य सुषमा अत्रे ने बताया-यातायात नियमों की जानकारी सभी के लिए आवश्यक है। हमेशा नियम व अनुशासन में रहना जरूरी है। यातायात नियमों का पालन करते समय लाइसेंस लेकर 18 वर्ष की उम्र के बाद ही वाहन चलाएं। हेलमेट पहनें व अधिक गति से वाहन न चलाएं। संस्था में पहले कई बच्चे अपने वाहन से आते थे, जिसे देखते हुए बगैर लाइसेंस के वाहन लेकर आने पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसका पालन बच्चे भी पूरी तरह से कर रहे हैं।

कोई शराब पीकर वाहन चलाएं तो उसे टोकें

राजीव मालवीय ने बताया-आप बस या आटो में आते हैं। बाहर गांव से भी आ रहे हैं। अगर ड्राइवर शराब पीकर वाहन चलाते नजर आए तो उसे टोकें व तुरंत ही स्वजनों को भी सूचित करें। साथ ही दूसरे वाहन की व्यवस्था के लिए कहें। ऐसा करने से संभावित दुर्घटना से बचा जा सकेगा। शहर में या हाईवे पर अधिक गति से वाहन कभी न चलाएं। आप लोग फिल्मों में जो स्टंट देखते हैं उससे कभी प्रभावित न हो व उन्हें अपने ऊपर हावी न होने दें। वह सारे स्टंट एक्सपर्ट की निगरानी में व कम गति में सुरक्षा मानकों के साथ किए जाते हैं। जिसे कैमरे की मदद से धीरे या तेज दिखाया जाता है। हमेशा धीमी गति से ही वाहन चलाएं।

किसी की बातों में आकर जल्दबाजी कभी न करें

हर किसी को कहीं न कहीं पहुंचने की जल्दी रहती है। जिससे स्पीड अधिक रखकर वाहन चलाना, ओवरटेक करना उनकी आदत में आ जाता है लेकिन यह सबसे अधिक दुर्घटना का कारण बनता है। वाहन चलाते समय किसी अन्य वाहन से आगे निकलने की होड़ में एक-दूसरे को टक्कर भी मार देते हैं। बिना सिग्नल लिए किसी भी वाहन को ओवरटेक नहीं करना चाहिए क्योंकि आगे वाले वाहन को आपके वाहन के बारे में पता नहीं होता है। ओवरटेक करते टाइम हो सकता है वह दाएं या बाएं गाड़ी मोड़ दे। जिससे आपका वाहन उस गाड़ी की चपेट में आ सकता है। ऐसी परिस्थिति से बचने के लिए बिना देखे, बिना अनुमति मिले बगैर गाड़ी को ओवरटेक नहीं करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close