Road Safety Campaign Khandwa: खंडवा(नईदुनिया प्रतिनिधि)। दोपहिया या अन्य कोई वाहन चलाते समय गति नियंत्रण बेहद जरूरी है। दुर्घटनाएं अनियंत्रित गति के कारण होती हैं। सबसे अधिक दुर्घटना सड़क बगैर देखे पार करने, बगैर संकेत दिए दाएं या बाएं मुड़ने या फिर मोड़ पर अधिक गति से वाहन चलाने या ओवर टेक करने से होती है, इसलिए इन बातों को हमेशा ध्यान रखना जरूरी है।

अगर घर में माता-पिता, भाई-बहन या अन्य कोई स्वजन तेज रफ्तार से वाहन चलाते हैं तो उन्हें टोके जरूर। बेटियों व बहनों की बात माता-पिता व भाई कभी भी नकारेंगे नहीं। इसके साथ ही खुद भी 18 वर्ष के होने व लाइसेंस बनने के बाद ही वाहन चलाए। यह बात शनिवार को सूरजकुंड कन्या शाला में प्राचार्य संजय निंभोरकर ने छात्राओं से कही।

प्राचार्य निंभोरकर ने बताया यातायात नियमों की जानकारी सभी के लिए आवश्यक है। हमेशा नियम व अनुशासन में रहना जरूरी है। यातायात नियमों का पालन करते समय लाइसेंस लेकर 18 वर्ष की उम्र के बाद ही वाहन चलाएं। हेलमेट पहनें व अधिक गति से वाहन न चलाएं।

हर किसी को कहीं न कहीं पहुंचने की जल्दी रहती है। जिससे स्पीड अधिक रखकर वाहन चलाना, ओवरटेक करना उनकी आदत में आ जाता है। लेकिन यह सबसे अधिक दुर्घटना का कारण बनता है। वाहन चलाते समय किसी अन्य वाहन से आगे निकलने की होड़ में एक दुसरे को टक्कर भी मार देते हैं। बिना सिग्नल लिए किसी भी वाहन को ओवरटेक नही करना चाहिए। क्योंकि आपके आगे वाले वाहन को आपके वाहन के बारे में पता नहीं होता है।

ओवरटेक करते टाइम हो सकता है वह दाएं या बाएं गाड़ी मोड़ दें। जिससे आपका वाहन उस गाड़ी के चपेट में आ सकता है। बिना अनुमति मिले बगैर गाड़ी को ओवरटेक नहीं करें। शहर में या हाइवे पर अधिक गति से वाहन कभी न चलाएं।

आटो चालकों को किया जागरूक

खंडवा । आटो चालकों को यातायात नियमों के पालन को लेकर जागरूक किया गया। शनिवार को अग्रसेन चौराहे के पास स्थित आटो स्टैंड पर ट्रैफिक थाने से पुलिसकर्मी पहुंचे थे। लाइसेंस और आटो परिवहन से संबंधित सभी दस्तावेज के साथ ही आटो चलाने की समझाइश दी।

ट्रैफिक थाने में पदस्थ सूबेदार नितिन निगवाल ने शनिवार को आटो चालकों को नियमों की जानकारी दी। दोपहर में वे अग्रसेन चौराहे के पासा स्थित आटो स्टैंड पुलिस कर्मियों के साथ आटो चालकों के बीच उपस्थित रहे। इस स्टैंड पर से 50 से अधिक आटो संचालित होते हैं। उन्होंने आटो चालकों को कहा कि आटो का संचालन एक तरह से जनमानस की सेवा है। ऐसे में हमें अपनी और उनकी सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए। यह हम तभी कर सकते हैं जब हमारे पास आटो संचालन संबंधी सभी दस्तावेज पूरे हो। आटो का बीमा हो। साथ ही आटो में अधिक सवारी कभी न बैठाएं। इससे दुर्घटना का खतरा बना रहता है साथ ही यह निमयों के विरुद्ध है। ऐसा करने पर कार्रवाई भी हो सकती है। इसके लिए सुरक्षा व नियमों को अपनाते हुए आटो का संचालन करें। यातायात नियमो का हमेशा पालन करे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close