खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नवरात्र में मां आदि शक्ति की भक्त नौ रूपों की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं। इस बार नवरात्रि पर कई शुभ योग बन रहे है। इस बार नवरात्रि अश्विन शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा 26 सितंबर से प्रारंभ होगी। इस वर्ष तीन अक्टूबर को दुर्गाष्टमी व चार अक्टूबर को दुर्गा नवमीं मनाई जाएगी। पांच अक्टूबर को को दशहरा मनाया जाएगा। पर्व से पहले रविवार को बाजार में भी रौनक नजर आई। घट स्थापना को लेकर कलश खरीदने बड़ी संख्या में लोग बाजार पहुंचे। इसके साथ ही प्रतिमाएं लेकर भी पांडाल तक लेकर पहुंचे। शहर के प्रमुख भवानी माता मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर,सराफा स्थित शीतला माता मंदिर, नवचंडी मंदिर, बड़ी भवानी माता आदि मंदिरों में तैयारियां पूरी हो चुकी है।

मां शीतला संस्कृत पाठशाला के आचार्य अंकित मार्कण्डेय ने बताया 26 सितंबर शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा हस्त नक्षत्र, शुक्ल ब्रह्म योग, सूर्य चंद्रमा कन्या राशि में रहेंगे। इस दिन मंदिरों व घरों में घट स्थापना, देवी की मूर्ति की स्थापना की जाएगी। इस बार माता रानी का आगमन हाथी पर होगा और विसर्जन के समय भी मां हाथी पर सवार हो कर जाएगी। हाथी पर माता का आगमन इस बात की ओर संकेत है कि इस साल खूब अच्छी वर्षा

होगी और खेती अच्छी होगी। नवरात्रि में बड़ी पवित्रता के साथ माता रानी का पूजन व्रत करना चाहिए। सबसे बड़ी बात यह है की नवरात्रि में पूरे नव दिन क्रोध नहीं करना चाहिए। प्रसन्ना मन से देवी की साधना करना चाहिए।

आज को होगी घट स्थापना

नवरात्र के पहले दिन सोमवार को माता की प्रतिमा और घट, अखंड ज्योत की स्थापना की जाएगी। घट (कलश) के पास ही मिट्टी में जौ, गेहूं बोए जाते है। जिसका नौ दिनों तक ज्वारे के रूप में पूजन किया जाएगा। नौ दिनों तक दुर्गा सप्तशती का नौ दिनों तक पाठ कर, नवमी पर हवन करने पर विशेष पुण्य फल प्राप्त होता है।

इंदिरा चौक पर सजेगी माईं की बगिया, जवाहर गंज में सजेगा दरबार

खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नवरात्रि को लेकर शहर के प्रमुख पांडालों में तैयारियां पूरी हो चुकी है। इंदिरा चौक पर भव्य प्रतिमा के साथ ही माई क बगिया का निर्माण किया जा रहा है। वहीं जवाहर गंज में आकर्षक दरबार सजाया जा रहा हैं वहीं बोरगांवकर गली में मां दुर्गा महाकाली के स्वरूप में नजर आएंगी। मंदिरों से लेकर पांडाल स्थल तक रंग रोगन, विद्युत व्यवस्था पूरी की गई है। नौ दिनों तक शहर में अलग-अलग स्थानों पर गरबा का आयोजन भी किया जाएगा। जिसकी तैयारियां रोजाना शाम को मोहल्लों व कालोनियों में कि जा रही है।

इंदिरा चौक - इंदिरा चौक पर जय हो मैया की ग्रुप द्वारा 40वें वर्ष में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जा रही है। 17 फीट की प्रतिमा बुरहानपुर के कलाकारों ने तैयार की है। अध्यक्ष टोनू गोहर ने बताया इस वर्ष माईं की बगिया का निर्माण किया जा रहा है। वहीं आजादी का अमृत महोत्सव मनाते हुए स्वतंत्रता सैनानियों का जीवन परिचय भी प्रदर्शित किया जाएगा। नौ दिनों तक भजन व आर्केस्ट्रा का आयोजन भी होगा।

जवाहरगंज - जवाहर गंज में सातवें वर्ष में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापना की जा रही है। इस वर्ष भी मां दुर्गा महारानी के स्वरूप में विराजमान होंगी। नौ दिनों तक भव्य

आरती व गरबे का आयोजन भी किया जाएगा। लगभग 18 फीट की प्रतिमा स्थापित की गई है। यहां होने वाले आयोजन में बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं।

बोरगांवकर गली - बोरगांवकर गली में 11 दिनों तक नवदुर्गा उत्सव मनाया जाएगा। प्रतिमा का निर्माण बंगाल के कारीगरों द्वारा किया जा रहा है। 26 सितंबर को घट स्थापना के बाद 27 सितंबर को आरती व गरबा रास, 28 सितंबर को भगत सिंह की जयंती पर भारत माता की आरती, 29 सितंबर को मां कालका की आरती, 30 सितंबर को शस्त्र पूजन व महाआरती होगी। एक अक्टूबर को जागरण व दो अक्टूबर को रात 12 बजे भव्य काकड़ा आरती होगी।

मालीकुंआ - मालीकुंआ स्थित हिंगलाज माता मंदिर प्रांगण में महिसासुर मर्दनी के स्वरूप में दर्शन होंगे। मंदिर में नौ दिनों तक मां हिंगलाज का विशेष श्रृंगार किया जाएगा। परिसर में आकर्षक विद्युत सज्जा की गई है। नौ दिनों तक गरबा नृत्य भी आयोजित होंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close