खंडवा(नईदुनिया प्रतिनिधि)। खंडवा रेलवे स्टेशन पर अधूरे काम सालों बाद भी पूरे होते नजर नहीं आ रहे। तीन साल पहले शुरू हुआ प्लेटफार्म नंबर छह का निर्माण कार्य अभी भी अधूरा है। प्लेटफार्म पर पेवर ब्लाक के काम सहित प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ाए जाने का काम धीमी गति से जारी है। इसके अलावा शेड बनाए जाने को लेकर भी काम पूरा नहीं हो सका है। रेलवे के अधिकारी निरीक्षण तो करते हैं लेकिन इसके बाद भी काम को गति नहीं मिल पाती।

स्टेशन को आदर्श रेलवे स्टेशन बनाए जाने को लेकर प्रस्ताव भेजे गए हैं लेकिन इस दिशा में तेजी से कदम नहीं उठाए जा रहे। प्लेटाफार्म का विस्तार करते हुए रेलवे आवास की तरफ प्लेटफार्म नंबर छह का नवनिर्माण हो रहा है। यहां पर ट्रैक बिछाने के साथ ही आवाजाही के लिए फुट ओवर ब्रिज बनाया जा चुका है। इसका निरीक्षण भी दो साल पहले अधिकारी कर चुके हैं। अधूरे प्लेटफार्म के कारण अन्य सुविधाएं मिलने में भी देरी हो रही है।

अभी यह है स्थिति

तीन पुलिया से लेकर बड़े पुल से पहले तक प्लेटफार्म का विस्तार किया गया है। फुट ओवर ब्रिज के बाद तीन पुलिया वाले हिस्से पर प्लेटफार्म के लिए बेस बनाया गया है लेकिन इसे पूरा नहीं किया जा सका है। इसके साथ ही रेलवे कालोनी की तरफ से गेट बनाए जाना है व बाउंड्रीवाल को भी बेहतर किया जाना है। जो अभी तक अधूरा है।

टूटेंगे पुराने आवास

प्लेटफार्म बनाए जाने के लिए सर्कुलेटिंग एरिया निर्माण होगा। इसके लिए सड़क के पास बने रेलवे के पुराने क्वार्टर को तोड़ा जाना है। तीन साल में इसके लिए भी टेंडर प्रक्रिया नहीं हो सकी है, जबकि इसके टूटने के बाद ही प्लेटफार्म में प्रवेश द्वारा, पार्किंग सहित अन्य सुविधाएं मूल रूप लेंगे। अभी यह कार्य ही नहीं हो सका है ऐसे में पूरा निर्माण होने में तीन से चार साल और लग सकते हैं।

यात्री ट्रेनों को रुकने के लिए मिलेगी अनुमति

जितनी जल्दी प्लेटफार्म का काम पूरा होगा। उतनी जल्दी यात्री ट्रेनों का ठहराव यहां पर संभव होगा। इसके लिए अनुमति व निरीक्षण के लिए भी एक लंबी प्रक्रिया से गुजरना होगा। एक काम के कारण बाकि सभी काम रूके हुए हैं। लगभग साढ़े तीन करोड़ रुपये की लागत से प्लेटफार्म, टिकट खिड़की व अन्य कार्य होना प्रस्तावित है।

सनावद से खंडवा का ट्रैक तैयार, ट्रेन का इंतजार

सनावद से मथेला तक ब्राड गेज लाइन का कार्य पूरा हो चुका है। इसे लेकर एक साल पहले निरीक्षण भी किया गया लेकिन अभी तक ट्रेन सुविधा नहीं मिल सके की। इस रूट के ग्रामीणों सहित, यात्रियों व ओंकारेश्वर जाने वाले तीर्थ यात्रियों को सुविधा से वंचित होना पड़ रहा है। जबकि सनावद, मथेला, खंडवा के जनप्रतिनिधि, जन मंच सदस्य व रेल सलाहकार समिति के सदस्य इस संबंध में कई बार रेलवे के अधिकारियों व सांसद से मुलाकात व पत्राचार भी कर चुके हैं।

जीएम को लिखा है पत्र

मध्य रेलवे मुंबई के महाप्रबंधक अनिल कुमार लाहोटी 28 जनवरी को भुसावल मंडल के तहत आने वाले स्टेशनों का निरीक्षण करेंगे। सेंट्रल रेलवे मुंबई के जेडआरयूसीसी सदस्य मनोज सोनी ने महाप्रबंधक से खंडवा निरीक्षण का निवेदन कर पत्र लिखा है। उन्होंने बताया खंडवा स्टेशन पर यार्ड रिमॉडलिंग, रिडेवलपमेंट, गेज कंवर्जन, प्लेटफार्म नंबर छह का काम अभी तक पूरा नहीं हो पाया है। निरीक्षण से इन कामों को गति मिलेगी वहीं विभागों को भी मार्गदर्शन प्राप्त होगा। इसके साथ ही खंडवा यार्ड में वाशिंग पिटलाइन का निर्माण का प्रस्ताव बनाने व स्वीकृति प्रदान करने के लिए निवेदन किया है।

- कोरोना संक्रमण के कारण फंड की कुछ कमी थी। इसलिए कार्य प्रभावित हुआ। सर्कुलेटिंग एरिया की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हो सकी है। -प्रशांत भुसारी, सीनियर सेक्शन इंजीनियर खंडवा

- अभी मैं निरीक्षण पर हूं, बाद में जानकारी लेकर बता पाऊंगा। -योगेश गरड़, डिविजनल इंजीनियर, भुसावल

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local