खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर भैरूघाट और उसके आसपास आधी रात को बदमाश चलते ट्रकों की तिरपाल काटकर सामान चुरा रहे हैं। हाइवे पर घात लगाकर चोरी करने वाला एक बड़ा गिरोह सक्रिय हैं जो ट्रांसपोर्ट के ट्रकों को अपना निशाना बना रहा है। शनिवार को देर रात बदमाशों ने 13 ट्रकों में चोरी की है। इसमें अधिकांश ट्रक खंडवा है। इस तरह की घटनाओं से ट्रांसपोटर्स में आक्रोश है। पदमनगर थाने में शिकायत लेकर पहुंचे ट्रांसपोर्ट की सुनवाई नहीं हो सकी। यहां से उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा। अब वे सोमवार को पुलिस अधीक्षक को घटना से अवगत कराते हुए शिकायत करेंगे।

पदमनगर क्षेत्र में स्थित न्यू खंडवा बड़वाह रोड लाइन ट्रांसपोर्ट के संचालक मोहम्मद जुनैद चौहान के ट्रक में से सामान चोरी गया है। व्यवसायी चौहान ने बताया कि ट्रक क्रमांक एमपी 09-केसी-7619 में चोरी हुई। सुबह जब ट्रक से सामान उतारा गया तो उसमें आठ डाक कम मिली। लापता डाक का पता लगाने के लिए ट्रक की छानबीन की तो तिरपाल कटी हुई मिली। अज्ञात बदमाशों ने ट्रक की तिरपाल काटकर आठ डाक चोरी की। कुछ डाक को भी खोलने का प्रयास किया गया। इस तरह की घटना विवेक ट्रांसपोर्ट के दो ट्रकों में हुई है। एमपी 09-जीजी-9315, एमपी 09-जीजी- 7527 से डाक चोरी हुई है। इस तरह एक रात में करीब 13 ट्रकों में चोरी हुई। लाखों का सामान बदमाश चुराकर ले गए। ट्रकों में हो रही चोरी की घटनाओं से परेशान ट्रासपोर्ट संचालकों ने हड़ताल का मन बना लिया है। सुनवाई नहीं होने पर वे मंगलवार को हड़ताल कर सकते हैं। इससे परचून का काम पूरी तरह से प्रभावित हो जाएगा।

एक सप्ताह में 25 से अधिक घटना

ट्रकों की तिरपाल काटकर डाक चोरी करने का सिलसिला करीब एक सप्ताह से बना हुआ है। आठ दिनों में खंडवा ट्रांसपोर्ट, वर्धमान ट्रांसपोर्ट, हरदा-खंडवा ट्रांसपोर्ट, राजस्थान ट्रांसपोर्ट और विवेक ट्रांसपोर्ट सहित शहर के अन्य ट्रांसपोर्ट के ट्रकों में चोरी हुई है। अब तक लाखों रुपये का नुकसाक ट्रांसपोर्टर उठा चुके हैं लेकिन ना तो घटनाओं पर अंकुश लग पा रहा है और ना ही पुलिस गिरोह को पकड़ पा रही है। पुलिस के सुस्त रवैए से ट्रासंपोर्ट संचालकों में आक्रोश है। सोमवार को ट्रांसपोटर्स द्वारा पुलिस अधीक्षक को आवेदन सौंपकर बदमाशों पर कार्रवाई की मांग की जाएगी।

धीमी गति होने का उठाते हैं फायदा

इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर भैरूघाट और उसके आसपास मुख्य मार्ग पर ट्रकों की गति कम रहती है। माल भरा होने से ड्रायवर ट्रक को घाट पर धीरे-धीरे चलाते हैं। इससे कि किसी तरह की दुर्घटना न हो सके। इधर ट्रकों की धीमी गति का फायदा गिरोह उठा रहा है। वे मौका पाकर ट्रक के ऊपर चढ़ कर तिरपाल काट देते हैं और उसमें से काटून निकाल लेते हैं। एक ट्रक ड्रायवर का कहना है कि बदमाश अपने पास धारदार हथियार रखते हैं। उसके साथ ही एक बार इसी तरह की घटना हुई थी। उसे लगा कि ट्रक के ऊपर कोई चढ़ा है तो उसने ट्रक को रोका था। ट्रक के रुकते ही पांच नकाबपोश लोग आए। सभी के हाथ में धारदार हथियार थे। उन्हें देख उसने ट्रक तेजी से भगा लिया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close