खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मध्यप्रदेश का गोवा के नाम से पहचाने जाने वाले हनुवंतिया टापू में चल रहे छठे जल महोत्सव का समापन 20 जनवरी को हो जाएगा। वैसे कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से पर्यटकों की संख्या कम सिमट गई है। रविवार को सैर-सपाटे के लिए 400 से भी कम पर्यटक यहां पहुंचे। ऐसे ही हालात यहां इवेंट कंपनी द्वारा संचालित टेंट सिटी के हैं। 90 प्रतिशत टेंट खाली हैं। पूर्व में हुई बुकिंग भी निरस्त हो रही है। ऐसे में समापन से पहले ही यहां सन्नााटा नजर आने लगा है।

हनुवंतिया में 20 नवंबर से आयोजित महोत्सव की उलटी गिनती शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश पर्यटन विकास निगम के पर्यटन केंद्र और टेंट सिटी में जनवरी के पहले सप्ताह से ही पर्यटकों की संख्या घटना शुरू हो गई थी। कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ने से पर्यटकों की संख्या भी उसी रफ्तार से कम होने लगी थी। सप्ताह के अंत में शनिवार और रविवार को स्थानीय पर्यटकों द्वारा दूरी बनाने से पर्यटन स्थल की रौनक खत्म हो चुकी है। जल महोत्सव का समापन भी इस वर्ष सादगी से होगा।

ये रहे आकर्षण का केंद्र

महोत्सव के दौरान इवेंट कंपनी के 104 स्विस टेंट में ठहरने के अलावा लग्जरी रीगल सीरीज बोट, 40 फीट हाई रोप स्विंग और जिप साइकिल आकर्षण का केंद्र रहें। पर्यटकों ने एडवेंचर से संबंधित गतिविधियों पैरामोटरिंग, पैरासेलिंग, स्पीड बोट, जेट स्काई, मोटर बोट राइडिंग, हॉट एयर बैलूनिंग, साइकिलिंग, क्रूज बोटिंग, आइलैंड कैम्पिंग, स्टार गेजिंगए बर्ड वाचिंग का लुत्फ उठाया। इसके अलावा क्रिसमस और नए साल का उत्सव मनाने के लिए भी बडी संख्या में पर्यटक यहां जुटे थे।

महोत्सव से पहले ही सज गई थी टेंट सिटी

जल महोत्सव अंतर्गत इवेंट कंपनी द्वारा पर्यटकों के मनोरंजन के लिए शाम में मंच पर लोक संगीत, नृत्य और स्थानीय व्यंजनों के माध्यम से निमाड़ की समृद्ध परंपराओं का अनुभव करवाया। वैसे सनसेट डेजर्ट इवेंट कंपनी द्वारा जल महोत्सव शुरू होने के एक पखवाडे पहले ही टेंट सिटी सज गई थी। इंदिरा सागर बांध में स्थित हनुवंतिया टापू में टेंट सिटी का संचालन एक नवंबर से पर्यटकों के लिए शुरू कर दिया था।

अद्भूत प्राकृतिक नजारों का लिया लुत्फ

इंदिरा सागर बांध के बैक् वाटर किनारे स्थित हनुवंतिया टापू अद्भुत और रोमांचक पर्यटन स्थल है। यहां पर्यटन विभाग ने पांच काटेज बनाए है। इसके अलावा अथाह जल और सुरम्य प्राकृतिक नजरों तथा समृद्ध जैव विविधता का आनंद लेने वैसे तो साल भर यहां पर्यटक आते है लेकिन जल महोत्सव के दौरान इवेंट कंपनी द्वारा टेंट सिटी बनाने से पर्यटकों की संख्या बढ़ जाती है। प्रदेश के पहले जल पर्यटन केंद्र को वर्ष 2017 में भारत सरकार के पर्यवटन मंत्रालय द्वारा सबसे अनोखे और अद्वितीय नवीन पर्यटन उत्पाद वर्ष 2015-16 के लिए नेशनल टूरिज्म अवार्ड से भी मिल चुका है।

- कोरोना संक्रमण को देखते हुए पर्यटकों की संख्या में कमी आ गई है। सभी काटेज भी खाली है। जनवरी माह की बुकिंग भी पर्यटकों द्वारा रद्द की जा रही है। प्रतिदिन पांच से सात बुकिंग रद्द हो रही है। शनिवार और रविवार को सैर-सपाटे के लिए आने वाले पर्यटकों की संख्या भी घट गई है। 20 जनवरी को दो माह के जल महोत्सव का समापन हो जाएगा। आशीष गुप्ता, प्रबंधक हनुवंतिया पर्यटन केंद्र।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local