खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पशुओं से लोगों की जान पर बन आई है। पशुओं की वजह से खतरा इस कदर बढ़ गया है कि लोगों का पैदल चलना तक दुभर हो गया है। दुबे कालोनी में एक बुजुर्ग महिला के साथ हुई घटना जिसने भी देखी उसका दिल दहल गया। सांड ने महिला को उछालते हुए पटक कर रौंद दिया। लोगों की मदद से महिला की जान बच पाई। महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया।

दुबे कालोनी निवासी 80 वर्षीय सुबरा-बी के साथ यह घटना हुई है। जिला अस्पताल में भर्ती सुबरा-बी ने बताया कि दामाद की तबीयत खराब है। उसे देखकर बुधवार को शाम में करीब सात बजे घर लौट रही थी। तभी घर से कुछ दूर सांड ने पीछे से आकर सिर मारा। उसे उछाल दिया और दो बार इसी तरह से उछलने के बाद वह सड़क किनारे नाली के पास गिर गई। इसके बाद भी सांड नहीं रुका वह उसे सिर से मारता रहा। यह देख आसपास के लोग उसे बचाने दौड़े। इसके बाद सांड वहां से भाग गया। बुजुर्ग महिला के साथ हुई यह घटना पास में एक मकान के बाहर स्थित सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई। मकान मालिक तरुण वर्मा ने कैमरे की रिकार्डिंग इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित कर दिया। करीब 20 से 30 सेकंड के वीडियो में सांड महिला को रौंदते हुए नजर आ रहा है। घायल महिला के पुत्र सलमान का कहना है कि जिस तरह से शहर में पशुओं का जमावड़ा रहता है। इस तरह की घटना किसी के साथ भी हो सकती है। इस तरह के पशुओं पर कार्रवाई की जाए। अपनी मां के साथ हुई घटना को लेकर नगर निगम कार्यालय में शुक्रवार को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

पशुओं पर कार्रवाई करने की मांग

लोगों में नगर निगम प्रशासन को लेकर आक्रोश है। इंटरनेट मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद लोगों ने अपने प्रतिक्रिया दी है। भूपेंद्र चौहान ने लिखा-अब वक्त आ गया है कि शहर के सड़क पर घूमने वाले पशुओं के साथ ही शहर में रास्ते, सड़क, गली और मोहल्लों में चल रहे पशुपालन को भी तुरंत बंद करवाया जाए। योगेश कुमार गुप्ता ने लिखा-अपकृत्य विधि के तहत घायल महिला ने शासन और प्रशासन के विरुद्ध कोर्ट में केस लगाना चाहिए। क्योंकि पशु सड़क पर नहीं घूमे यह जिम्मेदारी शासन और प्रशासन की है और निकाय संबधित अधिनियम के अनुसार शहर के सीमांतर्गत मवेशियों के पालन और व्यवसाय को प्रतिबंधित किया है। इस तरह की प्रतिक्रिया इंटरनेट मीडिया पर बहुत से लोगों ने दी है।

हादसे से भी नहीं लिया सबक

महिला के साथ हुई घटना के बाद भी नगर निगम द्वारा सड़कों पर घूमने वाले पशुओं पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। गुरुवार को बाजार में रक्षाबंधन पर्व की खरीदी को लेकर भीड़ रही। इस भीड़ के बीच घंटाघर चौक, नगर निगम चौक और बाम्बे बाजार में पशुओं का जमावड़ा रहा। नगर निगम चौराहे के पास सड़क के बीच में पशु बैठे रहे। इनके पास से जोखिम उठाकर लोग निकलते रहे। इसी तरह की स्थित अग्रसेन चौराहे पर भी रही लेकिन नगर निगम ने न तो पशुओं को पकड़ा और न ही पशु मालिकों पर किसी तरह की कार्रवाई की।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close