खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ओंकारेश्वर बांध के बैक वाटर में स्थित सैलानी टापू पर फैले जंगल में बड़े पैमाने पर अवैध रूप से महुआ शराब बनाई जा रही थी। मंगलवार को आबकारी विभाग की टीम तीन नावों से टापू पहुंची, लेकिन टीम को आता देख शराब बनाने वाले 25 से अधिक बदमाश नावों से फरार हो गए। यहां 20 से अधिक भट्टियों में शराब बनाई जा रही थी। 222 ड्रमों से करीब 24400 किलो महुआ लहान जब्त किया गया है।

जिला आबकारी अधिकारी रामप्रकाश किरार ने बताया कि खंडवा और खरगोन जिले के सीमावर्ती मांधाता क्षेत्र में अवैध शराब बनाने की शिकायत पर पूर्व में हुई कार्रवाई के बाद बदमाशों ने सैलानी टापू को ठिकाना बना लिया था। सूचना पर निरीक्षक दीपक रोकड़े, शेरसिंह मौर्य, अंकित सोलंकी, हेमलता मोवेल के साथ सैलानी टापू पर दबिश दी गई। जब्त महुआ लहान से 20-22 लाख रुपये मूल्य की शराब बन सकती थी।

खंडवा जिले में यह अभी तक की सबसे बड़ी कार्रवाई

इसे पंचनामा बनाकर नष्ट किया गया है। खंडवा जिले में यह अभी तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। बैक वाटर में कार्रवाई के दौरान टीम के सदस्यों ने सैफ्टी जैकेट पहन रखी थी। पानी अधिक होने और जंगल की वजह से बदमाशों का पीछा नहीं किया गया। इसका फायद उठाकर बदमाश नावों में तैयार शराब लेकर फरार हो गए। लहान और शराब बनाने में प्रयुक्त होने वाली सामग्री का मूल्य करीब 13 लाख रुपये आंका गया है। अज्ञात बदमाशों के विरुद्ध आबकारी अधिनियम में प्रकरण दर्ज किया है। इनकी पुलिस की मदद से तलाश की जाएगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local