खंडवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मतदान के एक दिन पहले हुई वर्षा ने मतदान दलों की मुसबीत बढ़ा दी। मतदान केंद्रों की छतों से पानी टपता रहा। जिसे रोकने के लिए तिरपाल का सहारा लिया गया। 50 से अधिक मतदान केंद्रों पर तिरपाल के सहारे पानी रोकने की कवायद की गई। कुछ केंद्रों के पहुंच मार्ग कीचड़ और गंदगी से सरोबर रहे। इस तरह की अव्यवस्था से मतदानकर्मी जूझते रहे। टपकती छत के बीच मतदानकर्मियों को बैठने तक की जगह नहीं रही थी।

घासपुरा स्थित कालूराम गंगराड़े स्कूल में चार मतदान केंद्र हैं। मतदान केंद्र के बाहर वर्षा का पानी भरा रहा। पानी में से होकर कर्मचारियों को मतदान केंद्र पहुंचना पड़ा। मतदान केंद्र के अंदर की छत भी टपक रही थी। इस स्थिति में यहां मतदान कराना तो दूर की बात कर्मचारियों के खड़े रहने तक की जगह नहीं थी। इसकी जानकारी मतदान दल ने नगर निगम चुनाव को लेकर इंटरनेट मीडिया पर बनाए गए ग्रुप में भेजी। इसके बाद मतदान केंद्र की छत पर तिरपाल बिछाई गई। दरअसल जल भराव मतदाताओं के खड़े रहने की जगह पर रहा। यही स्थिति रही तो बुधवार को मतदाताओं को परेशानी का सामाना करना पड़ सकता है।

गंदगी से सराबोर रहा मतदान केंद्र

ठक्कर बप्पा स्कूल मतदान केंद्र अव्यवस्था चरम पर रही। यहां स्कूल के सामने गोबर और कचरे का ढेर रहा। नालियां गंदगी से पटी रहीं। इससे होकर जैसे-तैसे मतदान केंद्र के अंदर पहुंचे कर्मचारी अंदर का नजारा हैरत में पड़ गए। कमरे के फर्श पर पानी था। छत भी टपक रही थी। उन्होंने भी इसकी जानकारी दी। इसके बाद निगम का एक दल यहां तिरपाल लेकर पहुंचा। निगमकर्मियों ने छत पर तिरपाल बिछाई। साथ ही यहां की गंदगी भी साफ की।

मतदाताओं को पानी में खड़ा रहना पड़ सकता है

कस्तूरबा गांधी स्कूल के दो मतदान केंद्रों की छत से टपकते पानी को रोकने के लिए तिरपाल बिछाई गया। यहां एक मतदान केंद्र के बाहर वर्षा के पानी से तालाब बन गया है। यहां बुधवार को मतदाताओं की कतार लगेगी लेकिन इस और प्रशासनिक अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। इससे बुधवार को यहा मतदाताओं को परेशान होना पड़ सकता है। यहां उनके मतदाताओं को वर्षा के पानी से बचाने के लिए तिरपाल का शेड भी नहीं बनाया गया था।

स्कूल की दीवारों और छत पर आई सीलन

भवानी माता मार्ग पर स्थित ठक्कर बप्पा प्राथमिक शाला में मतदान क्रमांक 96, 97 व 101 बनाया गया है। तेज बारिश के कारण व्यवस्था प्रभावित हुई। सीलन भरे कमरों में मतदान दल बैठकर कार्य करते नजर आए। मतदान केंद्र 97 की छत से पानी का रिसाव हुआ। इस सीलन भरे कमरे में मतदान दलों ने रात गुजारी। मतदान कक्ष 101 की छत से पानी का रिसाव रोकने के लिए पीले कलर की तिरपाल भी बिछाई गई।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close