खरगोन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला मुख्यालय पर गत 10 अप्रैल को श्रीराम नवमी पर हुई सां...प्रदायिक हिंसा का असर अब निकाय चुनाव की राजनीति में भी देखने को मिल रहा है। भाजपा ने इस बार जिले के छह निकायों में होने वाले निर्वाचन में चार निकायों में एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया है। इसमें खरगोन नपा सहित करही-पाडल्या, कसरावद व बिस्टान नगर परिषद शामिल हैं। इसमें रोचक विषय यह भी सामने आ रहा है कि गत चुनाव में जो मुस्लिम प्रत्याशी पार्षद बनकर आए थे, वो इस बार निर्दलीय के रूप में अपना आवेदन जमा कर रहे हैं। मुस्लिम पूर्व पार्षद का कांग्रेस से परहेज करना कुछ अलग समीकरण की ओर इशारा कर रहा है। हालांकि फिलहाल कांग्रेस की अधिकृत सूची जारी होना शेष है। इसके बाद स्थितियां और अधिक स्पष्ट होंगी।

ज्ञात हो कि शनिवार सुबह भाजपा ने जिले के छह निकायों में पार्षद पद के लिए अपने अधिकृत प्रत्याशियों की सूची जारी की। इसमें खरगोन, सनावद व बड़वाह नगर पालिका सहित कसरावद, करही-पाडल्या व बिस्टान नगर परिषद शामिल हैं। भाजपा की सूची में खरगोन, कसरावद, करही-पाडल्या व बिस्टान निकाय में एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया गया। वहीं बड़वाह में एक व सनावद में तीन मुस्लिम प्रत्याशियों को भाजपा की ओर से टिकट दिया गया है। जिला मुख्यालय की बात की जाए तो वर्ष 2014 के नगर पालिका चुनाव में भाजपा ने सात मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया था, हालांकि इसमें से एक भी प्रत्याशी विजयी नहीं रहा था। जबकि कांग्रेस की ओर से सात मुस्लिम पार्षद थे।

कांग्रेस पार्षद थे, अब निर्दलीय जमा किया आवेदन

शनिवार को नगर निकाय में पार्षद पद के आवेदन जमा करने का अंतिम दिन रहा। अंतिम समय तीन बजे तक कलेक्टोरेट में खासी भीड़भाड़ रही। वहीं इस दौरान गत चुनाव में वार्ड क्रमांक 27 में कांग्रेस की ओर से पार्षद रहे अलताफ आजाद ने इस बार वार्ड क्रमांक 25 से निर्दलीय के रूप में आवेदन जमा किया। वहीं वारिस चौबे की माताजी गत चुनाव में कांग्रेस की ओर से पार्षद थीं, उन्होंने भी निर्दलीय के रूप में आवेदन जमा किया।

टिकट मिला भाजपा से, आवेदन निर्दलीय जमा किया

जिले के करही में भी रोचक स्थिति बनी। करही-पाडल्या के वार्ड 15 के लिए आवेदन जमा करने वाले सुमित कौशल का नाम भाजपा द्वारा जारी की गई सूची में अधिकृत प्रत्याशी के लिए किया गया। जबकि सुमित ने अपना आवेदन निर्दलीय के रूप में जमा किया। जानकारी अनुसार वार्ड में 15 में कुल तीन ही आवेदन आए हैं। वहीं करही में गत चुनाव में भी एक भी मुस्लिम को पार्षद का टिकट नहीं दिया गया था।

चार पार्षदों को फिर मौका

कसरावद में इस बार नगर परिषद में इस बार भाजपा ने गत परिषद के चार पार्षदों पर फिर भरोसा जताया है। हालांकि अन्य कई नामों को लेकर कुछ असंतोष भी है। कसरावद में इस बार भाजपा ने एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया है, जबकि गत चुनाव में दो मुस्लिमों को टिकट दिया था और दोनों ही जीत नहीं पाए थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close