-जांच में पाई गई 145 क्विंटल गेहूं, 15 क्विंटल चावल, 1.50 क्विंटल बाजरा और 252 लीटर केरोसीन की हेराफेरी

बड़वानी(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

शासन की महत्वपूर्ण दो योजना प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत गरीबों को मिलने वाले खाद्यान्ना की मात्रा में हेराफेरी और एक योजना का ही लाभ वितरित करना व स्टाक में रखे खाद्यान्ना का मिलान पीओएस मशीन से न होने पर आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मोयदा के प्रबंधक राधेश्याम सोनी और उचित मूल्य दुकान वांगरा के सेल्समैन प्रमजीत चौहान पर सहायक आपूर्ति अधिकारी लवीना सोलंकी ने एसडीएम पानसेमल अंशु जावला के निर्देश पर एफआइआर दर्ज करवाई है।

प्राप्त जानकारी अनुसार इस प्रकरण में जांच में पाया गया कि संबंधित प्रबंधक और सेल्समैन ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना का तो लाभ हितग्राहियों को वितरित किया लेकिन राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत मिलने वाले खाद्यान्ना का वितरण न करते हुए हेराफेरी की है। जबकि पीओएस मशीन पर दोनों योजनाओं के खाद्यान्ना की मात्रा दर्ज की गई है। जांच के दौरान स्टाक भाव बोर्ड पर नियमित रुप से शासकीय उचित मूल्य दुकान पर उपलब्ध स्टाक की मात्रा दर्ज न कराना, वितरण पंजी के समय उपलब्ध नहीं कराई जाना, शासकीय उचित मूल्य दुकान वांगरा से संलग्न पात्र परिवारों को अक्टूबर माह में शासन की चलाई जा रही दो योजनाओं के स्थान पर केवल एक योजना का ही निशुल्क राशन वितरण किया जाना जैसी गंभीर अनियमितता पाई गई। इस पर दोषियों के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज करवाया है। जांच के दौरान 145 क्विंटल गेहूं, 15 क्विंटल चावल, 252 लीटर केरोसीन, 1.50 क्विंटल बाजरा का हिसाब नहीं पाया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close